ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट कप्तान टिम पेन के गर्दन की होगी सर्जरी, एशेज खेलने को लेकर अब भी हैं आश्वस्त - क्रिकट्रैकर हिंदी

ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट कप्तान टिम पेन के गर्दन की होगी सर्जरी, एशेज खेलने को लेकर अब भी हैं आश्वस्त

टिम पेन के मुताबिक, सर्जरी के बाद इस महीने के अंत तक वो अपनी शारीरिक गतिविधि की शुरुआत करेंगे।

Tim Paine Australia
Tim Paine. (Photo by PATRICK HAMILTON/AFP via Getty Images)

ऑस्ट्रेलिया के टेस्ट टीम के कप्तान टिम पेन 14 सितंबर को होबार्ट के एक अस्पताल में अपने गर्दन की सर्जरी करवाएंगे जिससे उनके एशेज की तैयारियों को बड़ा झटका लग सकता है। टिम पेन अपनी इस समस्या की वजह से ठीक से अभ्यास नहीं कर पा रहे थे। हालांकि, पेन अभी भी एशेज में अपनी कप्तानी को लेकर काफी आश्वस्त नजर आ रहे हैं। 

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया द्वारा एक बयान में कहा गया है कि पेन के गर्दन और बाएं हाथ में एक उभरी हुई डिस्क के कारण दर्द हो रहा था जिस वजह से वो अपनी ट्रेनिंग सही से नहीं कर पा रहे थे। पिछले सप्ताह के अंत में उन्होंने होबार्ट में एक स्पाइनल सर्जन से इस परेशानी को लेकर बात की और उन्होंने टिम पेन को सर्जरी का सुझाव दिया। उम्मीद जताई जा रही है कि पेन नवंबर की शुरुआत में मैदान पर वापसी कर सकते हैं जिससे उन्हें एशेज सीरीज की तैयारी के लिए वक्त मिल जाएगा।

टिम पेन ने अपनी चोट को लेकर क्या कहा?

टिम पेन ने अपने एक बयान में कहा है कि “स्पाइनल सर्जन और सीए मेडिकल टीम की सहमति थी कि अब सर्जरी कराई जाए जिससे गर्मियों के लिए पूरी तरह से तैयार होने के लिए मुझे काफी समय मिल जाएगा। मैं इस महीने के अंत तक शारीरिक गतिविधि को फिर से शुरू करने और अक्टूबर में पूर्ण ट्रेनिंग में वापस आने में सक्षम होने की उम्मीद करता हूं। मैं पहले टेस्ट के लिए तैयार हो जाऊंगा।”

अफगानिस्तान के साथ टेस्ट मैच हो सकता है रद्द

तालिबान ने जब से अपने देश की महिलाओं के खेलने पर प्रतिबंध लगाने का ऐलान किया है, तब से क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया उनके खिलाफ सख्त कदम उठाने के मूड में नजर आ रहा है। अगर तालिबान के शासन में महिलाओं को खेलने की अनुमति नहीं देता है तो अफगानिस्तान के साथ होबार्ट के मैदान पर नवंबर में खेले जाने वाला एक टेस्ट मैच रद्द किया जाएगा। ऑस्ट्रेलिया ने पिछले 18 महीनों में केवल चार टेस्ट मैच खेले और चारों मैच भारत के खिलाफ इसी साल खेले गए थे जिनमें उसे हार का सामना करना पड़ा था।