2021-22 के घरेलू सीजन के लिए BCCI ने राज्य टीमों के लिए जारी की नई गाइडलाइन्स - क्रिकट्रैकर हिंदी

2021-22 के घरेलू सीजन के लिए BCCI ने राज्य टीमों के लिए जारी की नई गाइडलाइन्स

अगले साल के अप्रैल तक चलेगा ये घरेलू सीजन।

Duleep Trophy
Rajneesh Gurbani, Duleep Trophy 2018. (Photo Source: Twitter)

BCCI ने आगामी घरेलू सीजन के लिए सभी राज्य की टीमों के लिए नए दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं। क्रिकबज की एक रिपोर्ट के अनुसार, टीमों को सार्वजनिक परिवहन यात्रा से बचने की सलाह दी गई है। जबकि बोर्ड ने सभी टीमों के लिए सदस्यों की संख्या भी 3o तक सीमित कर दी है जिसमें 20 खिलाड़ी और 10 कोचिंग स्टाफ शामिल होंगे।

BCCI ने इस बारे में विस्तृत जानकारी देते हुए कहा है कि “कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए सभी टीमों के साथ एक फिजियो मौजूद रहेगा। सार्वजनिक परिवहन का उपयोग करना पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेगा। इस साल के अंत में शुरू होने वाला ये घरेलू सीजन अगले साल के अप्रैल तक चलेगा।”

BCCI ने मैच फीस को लेकर जारी की नई एडवाइजरी

मैच फीस को लेकर एडवाइजरी जारी करते हुए BCCI ने कहा कि “टीम के 20 खिलाड़ी मैच फीस ले पाएंगे जिसमें से प्लेइंग 11 में मौजूद खिलाड़ियों को पूरी फीस मिलेगी और बाकी 9 खिलाड़ियों को आधी मैच फीस मिलेगी। यदि टीम में कोई भारत का खिलाड़ी है तो उन्हें भी इसी प्लेइंग इलेवन और नॉन प्लेइंग इलेवन के आधार पर फीस दी जाएगी।”

घरेलू सीजन के लिए कड़े बनाये गए कड़े कोविड प्रोटोकॉल

*बायो बबल में प्रवेश करने के लिए खिलाड़ियों को पहले छह दिनों तक अनिवार्य रूप से आइसोलेशन में रहना होगा। इसके बाद ही टीम के सभी सदस्य बायो बबल में प्रवेश कर पाएंगे।

*सभी खिलाड़ी और सपोर्ट स्टाफ होटल में छह दिनों तक अनिवार्य रूप से क्वारंटाइन होंगे। कोई भी खिलाड़ी किसी प्रकार की गतिविधि शुरू करने से पहले RT-PCR टेस्ट करवाएगा जिसकी रिपोर्ट सैंपल लेने के 12-24 घंटे के अंदर आ जाएगी।

*यदि कोई खिलाड़ी या स्टाफ कोरोना संक्रमित हो जाता है तो उसे 10 दिनों के लिए अनिवार्य रूप से आइसोलेशन में रहना होगा और इस दौरान उन्हें नियमित रूप से RT-PCR टेस्ट करवाना होगा।

*यदि कोई खिलाड़ी मेडिकल कारणों की वजह से बायो बबल छोड़कर बाहर जाता है तो उन्हें विशेष व्यवस्था के तहत ले जाया जाएगा और इस दौरान खिलाड़ियों को PPE किट पहनना होगा।