बीसीसीआई ने पेश किया इम्पैक्ट प्लेयर नियम जो बदल देगा आईपीएल की तस्वीर - क्रिकट्रैकर हिंदी

बीसीसीआई ने पेश किया इम्पैक्ट प्लेयर नियम जो बदल देगा आईपीएल की तस्वीर

बीसीसीआई ने इम्पैक्ट प्लेयर नियम को लेकर सभी राज्य संघों को एक सर्कुलर भेज दिया है।

BCCI. (Photo by Aniruddha Chowhdury/Mint via Getty Images)
BCCI. (Photo by Aniruddha Chowhdury/Mint via Getty Images)

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी और अन्य घरेलू टी-20 टूर्नामेंट में इम्पैक्ट प्लेयर प्रतिस्थापन नाम के एक नए कॉन्सेप्ट को पेश किया है। बीसीसीआई (BCCI) भारत में T20 क्रिकेट को और भी अधिक स्पाइसी और रोमांचक बनाना चाहता है इसलिए इस नए नियम की पेशकश की है।

अगर सब कुछ सही जाता हैं, तो बीसीसीआई (BCCI) इस इम्पैक्ट प्लेयर नियम को इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में भी आने वाले समय में लागू कर सकता है। बीसीसीआई के इस नए इम्पैक्ट प्लेयर प्रतिस्थापन नियम के अनुसार, सभी टीमों को जीतने की संभावना बढ़ाने के लिए मैच के दौरान अपनी प्लेइंग इलेवन में एक खिलाड़ी को बदलने की अनुमति होगी। यह खिलाड़ी मैच के परिणाम में प्रभाव डाल सकता है।

इम्पैक्ट प्लेयर नियम क्या है? जानिए

इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक, बीसीसीआई ने पहले ही सभी राज्य संघों को एक सर्कुलर भेज दिया है। बीसीसीआई ने सर्कुलर में कहा है कि वे खेल के इस प्रारूप को और आकर्षक और दिलचस्प बनाना चाहते हैं इसलिए वे इम्पैक्ट प्लेयर प्रतिस्थापन नियम को लेकर आए हैं ताकि टीमें मैच के दौरान अधिक सामरिक निर्णय लें और रणनीति बदलें।

बीसीसीआई ने सर्कुलर में लिखा: “सभी टीमों को टॉस के समय प्लेइंग इलेवन के साथ-साथ 4 विकल्पों को सामने रखना होगा। टीम शीट में चुने गए 4 विकल्पों में से केवल एक खिलाड़ी को इम्पैक्ट प्लेयर के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है। इम्पैक्ट प्लेयर द्वारा प्रतिस्थापित खिलाड़ी शेष मैच में भाग नहीं ले सकता है, और ना ही उसे एक प्रतिस्थापन फील्डर के रूप में मैदान में लौटने की अनुमति होगी।

यदि कोई खिलाड़ी मध्य ओवर में फील्डिंग करते समय चोटिल हो जाता है, तो मौजूदा खेल की स्थिति 24.1 के तहत बनी हुई होगी, टीम को दूसरा फील्डर चुनने की अनुमति होगी। एक इम्पैक्ट प्लेयर बल्लेबाजी कर सकता है और एक निर्बाध पारी में पूरे 4 ओवर भी फेंक सकता है। यदि कोई खिलाड़ी रिटायर्ड हर्ट हो जाता है, तो इम्पैक्ट प्लेयर को केवल ओवर के अंत में ही पेश किया जा सकता है, और वह केवल बल्लेबाजी कर सकता है। किसी भी स्थिति में केवल 11 खिलाड़ी ही बल्लेबाजी कर सकते हैं।

एक इम्पैक्ट प्लेयर एक निर्बाध पारी में पूरे 4 ओवर फेंक सकता है, चाहे फिर वह जिस खिलाड़ी की जगह टीम में आया हो उसने कितने ही ओवर डाले हो। यदि किसी गेंदबाज को किसी कानून के उल्लंघन के कारण निलंबित किया जाता है, तो उसे इम्पैक्ट प्लेयर द्वारा प्रतिस्थापित नहीं किया जा सकता है।”