in

भारत के घरेलू सीरीज में इन कमेंटेटरों को मिलेगा कमेंट्री का मौका

बीसीसीआई भविष्य में होने वाले भारत में मैचों की न्यूट्रल कमेंट्री की नीति में खास समीक्षात्मक बदलाव करेगी

Commentators
Commentators. (Photo Source: Twitter)

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड अब कमेंटेटरों की प्रदर्शन को देख चयन करेगी. बीसीसीआई ने अपने आने वाले घरेलू मैचों के सत्र के लिए कमेंटेटरों के लिए नई तकनीक की प्रक्रिया शुरु करने जा रही है. जहा बीसीसीआई भारत में होने वाले मैच के कॉमेंटेटर की पैनल में न्यूट्रल कमेंटेटरों की समीक्षा करेगा. वही इससे साफ हो गया है  कि बीसीसीआई भविष्य में होने वाले भारत में मैचों की न्यूट्रल कमेंट्री की नीति में खास समीक्षात्मक बदलाव करेगी.

हाल के मैचों में न्यूट्रल कमेंटेटरों के प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहे है जहां इंग्लैंड के पूर्व खिलाड़ी जोनाथन ट्रॉट को कमेंट्री पैनल में शामिल किया गया है. इसी क्रम में भारत-श्रीलंका मैच के दौरान कमेंट्री टीम में कुछ फेर बदल गई है. जहां तक विदेशी खिलाड़ियों को कमेंट्री पेनल में जगह देने को लेकर यह बात तो साफ हो गई है कि किसी एक भारतीय खिलाड़ी को इस कमेंट्री पैनल से बाहर होना होगा.

बीसीसीआई द्वारा कमेंट्री पैनल में इस प्रकार के फेरबदल की नीति को बीसीसीआई के अलावा कोई और ब्रॉडकास्टिंग चैनल तक फॉलो नहीं करती है बीते दिनों हुए भारत श्रीलंका टेस्ट श्रृंखला के दौरान कमेंट्री पैनल में न्यूजीलैंड के पूर्व खिलाड़ी साइमन डॉल शामिल थे. जहां तीसरे टेस्ट मैच जो दिल्ली में खेला गया इस दौरान कमेंट्री पैनल में साइमन डोल को हटाकर इंग्लैंड के पूर्व खिलाड़ी जोनाथन ट्रॉट को शामिल कर लिया गया. वही जोनाथन ट्रॉट को भारत-श्रीलंका के बीच खेले जा रहे वनडे सीरीज के लिए भी कमेंट्री पैनल में शामिल कर लिया गया है.
साथ ही भारत श्रीलंका टेस्ट श्रृंखला के तीनों टेस्ट के दौरान ऑस्ट्रेलिया के पूर्व खिलाड़ी मैथ्यू हेडन पूरे मैच के दौरान कमेंट्री पैनल में रहे है वही बीसीसीआई ने कमेंट्री पैनल में फेरबदल करते हुए भारत श्रीलंका के बीच होने वाली टी-20 मैचों के लिए कमेंट्री टीम का चयन कर लिया गया है. इस टी-20 सीरीज के कमेंट्री टीम में दक्षिण अफ्रीका के पूर्व क्रिकेटर ग्रीम स्मिथ, सुनील गावस्कर, संजय मांजरेकर, मुरली कार्तिक, और रसेल अर्नाल्ड को शामिल किया गया है. अब देखना दिलचस्प ये होगा कि बीसीसीआई की इस कमेंट्री पैनल के चयन की नीति को कितनी सफलता मिलती है. और भारतीय पूर्व खिलाड़ियों को इसमें कितनी जगह मिलती है

Steve Smith

स्टीव स्मिथ ने दोहरा शतक जड़ के 50 साल पुराना रिकॉर्ड् तोड़ा, क्रिकेट के भगवान भी नही कर पाए ऐसा

DRS

आईपीएल के 11 वें सीजन को लेकर बीसीसीआई कर सकती हैं बड़ा बदलाव