in

क्रिकट्रैकर के क्रिकेटप्रेमी प्रशंसकों ने चुने साल 2018 के 11 फेवरेट खिलाड़ी

2018 में क्रिकेट में इन खिलाड़ियों की धूम

Afghan cricketer Rashid Khan celebrates. (Photo Source: ISHARA S. KODIKARA/AFP/Getty Images)
Afghan cricketer Rashid Khan celebrates. (Photo Source: ISHARA S. KODIKARA/AFP/Getty Images)

2018 में 75 प्रतिशत मैच जीतकर भारतीय टीम एकदिवसीय मैचों की सबसे सफल टीम रही। टीम इंडिया ने एशिया कप जीता और अन्य कई महत्वपूर्ण मैचों में जीत दर्ज की। यह साल इंग्लैंड के लिए भी ख़ासा अच्छा रहा। इंग्लैंड की टीम ने करीब 74 प्रतिशत मैचों में जीत दर्ज की। इस साल में क्रिकेट प्रशंसकों को कुछ बेहद रोमांचक मैच के भी मजे लेने को मिले।

लगभग सारी ही टीमें इस साल में प्लान और स्ट्रेटजी बनाने में व्यस्त रहीं। 2019 के वर्ल्डकप की तैयारियां जोरो पर रही और कुल मिलाकर लगभग सभी टीमों ने अपने सबसे बेहतरीन ग्यारह खिलाड़ी चुन लिए हैं। एम एस धोनी का कप्तान के तौर पर 200वां मैच खेलना पिछले साल के सबसे यादगार पलों में से एक रहा। जिम्बाब्वे की टीम ने सबसे अधिक (26) मैच खेले।

साथ ही, पिछला साल कुछ क्रिकेटर्स को याद करने के लिए भी बेहद ख़ास रहा। इन क्रिकेटरों के अपनी टीम की सफलताओं में बड़ा योगदान दिया और इसके लिए उन्हें जमकर तारीफ़ भी मिली। जब लगभग सभी टीम अपने पसंदीदा 11 खिलाड़ियों को वर्ल्डकप 2019 को ध्यान में रखते हुए चुन ही चुकी हैं तो क्रिकट्रैकर ने भी अपने क्रिकेटप्रेमी यूजर्स को अपनी पसंद के 11 खिलाड़ियों को एक टीम के लिए चुनने का मौक़ा दिया।

पोल के जरिए क्रिकट्रैकर वेबसाइट पर क्रिकेटप्रेमियों ने खुलकर और जमकर कही अपनी बात। चुने ऐसे खिलाड़ियों के नाम जिन्हें उन्होंने माना सबसे बेहतरीन खिलाड़ी। आप जानिए किन खिलाड़ियों के नाम सबसे अधिक बार लिए गए और बन गई साल 2018 के सबसे बढ़िया 11 खिलाड़ियों की टीम।

क्रिकेट प्रेमियों के मुताबिक़ 11 सबसे बढ़िया खिलाड़ियों की टीम इस प्रकार है…

ओपनिंग करें रोहित शर्मा और शिखर धवन

भारत की सबसे सफल ओपनर जोड़ी के तौर चुने गए हैं रोहित शर्मा और शिखर धवन। इन दोनों धमाकेदार खिलाड़ियों के नाम दूसरी सबसे बड़ी ओपनिंग पार्टनरशिप का रिकॉर्ड है। यह कारनामा उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ एशियाकप में साल 2018 में 210 रन बनाकर किया। शर्मा विराट कोहली के बाद दूसरे ऐसे बल्लेबाज थे जिसने सबसे ज्यादा रन बनाए थे। 19 मैच खेलकर शर्मा ने 74 के औसत से 1,030 रन बनाए।

रोहित शर्मा ने 100 से भी ज्यादा के स्ट्राइक रेट से पांच शतक लगाए। उनके साथी शिखर धवन भी कम नहीं रहे। हालांकि धवन टेस्ट में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सके लेकिन लिमिटेड-ओवर के क्रिकेट में उनका परफॉर्मेंस शानदार रहा। धवन ने 50 के औसत से 19 मैच खेलकर 897 रन बनाए और तीन शतक जड़े।

मध्यक्रम में खेलें विराट कोहली, रॉस टेलर, शिमरोन हेटमायर

बिना किसी संशय के विराट कोहली को चुना गया मध्यक्रम का बल्लेबाज। पिछले साल 134 के औसत और 103 के स्ट्राइक रेट से 1,202 रन के साथ कोहली ने सबसे ज्यादा रनों का रिकॉर्ड बनाया था। छह शतकों और तीन अर्धशतकों के साथ, भारतीय कप्तान ने पूरे साल खेलप्रेमियों का भरपूर मनोरंजन किया और तारीफें बटोरीं।

न्यूजीलैंड के रॉस टेलर मध्यक्रम के लिए दूसरा पसंदीदा खिलाड़ी बने। सालभर टेलर ने भी लगातार बढ़िया प्रदर्शन किया। उन्होंने 11 मैचों में 10 पारी खेलकर 639 रन 91 के एवरेज से बनाए। वेस्टइंडीज के शिमरोन हेटमायर का नाम इस लिस्ट में अगला है। उन्होंने 40 के औसत से 18 मैच खेलकर 727 रन बनाए। उनके लिए फिनिशर का रोल रखा गया जिसे फ्लोटर के तौर पर भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

विकेटकीपर बनें जोस बटलर

2018 में जोस बटलर ने जबरदस्त खेल दिखाते हुए इंग्लैंड टीम की सफलता में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। यह विकेटकीपर बल्लेबाज लिमिटेड-ओवर क्रिकेट का बढ़िया खिलाड़ी है और पिछले साल में इन्होंने जोरदार खेल दिखाया है। बटलर इंग्लैंड टीम द्वारा खेले गए 24 में से 23 मैचों में टीम का हिस्सा थे और 18 मैचों में उन्हें बल्लेबाजी का मौक़ा मिला। उन्होंने 52 के औसत और 114 के स्ट्राइकरेट से 671 रन बनाए।

ऑलराउंडर बनें शाकिब अल हसन

शाकिब अल हसन मौजूदा सबसे बेहतरीन ऑलराउंडर में से एक हैं। सबसे ज्यादा क्रिकेटप्रेमी इन्हें ही ऑलराउंडर के तौर पर टीम में देखना चाहते हैं। हसन ने 15 मैचों में 497 रन बनाए हैं और 21 विकेट लिए हैं। इससे भी बढ़कर, गेंद के साथ उनका इकोनॉमी रेट 4.48 जो काबिलेतारीफ है।

गेंदबाज बनें राशिद खान, कुलदीप यादव, कागिसो रबाडा, जसप्रीत बुमराह

क्रिकेटप्रेमियों ने टीम में गेंदबाजी के लिए दो स्पिनर और दो तेज गेंदबाजों की जोड़ियों को चुना है। राशिद खान और कुलदीप यादव दोनों ने ही पिछले साल कमाल की गेंदबाजी की और एकदिवसीय मैचों में सबसे ज्यादा विकेट झटके। खान ने 20 मैच खेलकर 48 रन बनाए। कुलदीप यादव ने 19 मैचों में 45 को आउट किया।

कागिसो रबाडा और जसप्रीत बुमराह दोनों ही सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले खिलाड़ियों में शामिल नहीं हैं, फिर भी दोनों को तेज गेंदबाजी की जिम्मेदारी के लिए टीम में चुना गया है। ऐसा संभव है कि विकेट कम ले पाने के बावजूद क्रिकेटप्रेमियों को इनमें बढ़िया गेंदबाजी की संभावना नजर आईं। रबाडा ने 14 मैचों में 23 विकेट लिए और यादव ने 13 मैचों में 22 खिलाडियों को आउट किया।

kuldeep yadav ( image source: Twitter)

सिडनी वनडे: अंतिम ओवरों में कंगारू बल्लेबाज़ों का धमाल, भारत के सामने रखा बढ़ा लक्ष्य

australia team after winning first odi ( image source: twitter)

पहले वनडे में टीम इंडिया की करारी हार, ये रहे हार के 5 बड़े कारण, नंबर 3 सबसे अहम!!