सनराइजर्स हैदराबाद को लेकर अभी तक शांत नहीं हुआ है वॉर्नर का गुस्सा, इस बार दिया विवादित बयान - क्रिकट्रैकर हिंदी

सनराइजर्स हैदराबाद को लेकर अभी तक शांत नहीं हुआ है वॉर्नर का गुस्सा, इस बार दिया विवादित बयान

हैदराबाद ने बीच सीजन में ही डेविड वॉर्नर से कप्तानी छीनकर केन विलियमसन के हाथो में दे दी थी।

David Warner
David Warner. (Photo Source: IPL/BCCI)

ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज बल्लेबाज डेविड वॉर्नर ने हाल ही में SRH द्वारा उन्हें कप्तानी से बर्खास्त करने और उन्हें टीम से बाहर करने पर अपने विचार रखे थे। वह इस बात से बहुत चिंतित थे कि यह युवा खिलाड़ियों की मानसिकता और उनके प्रति उत्साही फैंस की मानसिकता को कैसे प्रभावित कर सकता है। वॉर्नर ने ये भी कहा कि कप्तानी से हटाने की जगह मैनेजमेंट को उनसे आकर बातचीत करनी चाहिए थी।

वॉर्नर टूर्नामेंट के इतिहास में सर्वश्रेष्ठ आईपीएल खिलाड़ियों में से एक रहे हैं, उनके नाम कुछ उत्कृष्ट संख्याएं हैं और उन्होंने फ्रेंचाइजी में बहुत योगदान दिया है। बाएं हाथ के इस खिलाड़ी ने शीर्ष क्रम में अकेले दम पर मैच जीते हैं और पिछले साल एक साधारण सीजन के बाद SRH प्रबंधन ने केन विलियमसन को कप्तानी सौंप दी थी। इसके साथ ही वॉर्नर को आगामी मेगा ऑक्शन से पहले SRH ने रिटेन भी नहीं किया।

एक बार फिर हैदराबाद को लेकर छलका डेविड वॉर्नर का दर्द

मशहूर पत्रकार बोरिया मजूमदार के शो Backstage with Boria में डेविड वॉर्नर ने कुछ बड़े खुलासे किये हैं। उन्होंने कहा कि, “जब आप किसी कप्तान को जिसने शानदार प्रदर्शन किया हो उसे हटाते हो और फिर टीम में जगह नहीं देते हो तो यह युवा खिलाड़ियों को और बाकी खिलाड़ियों को क्या संदेश देता है। मुझे इस बात को लेकर और बुरा लगा जब बाकी खिलाड़ियों को यह समझ में नहीं आया कि यह उनके साथ भी हो सकता है।”

वॉर्नर ने आगे कहा कि, “अंत में जो भी कुछ हुआ, आपको उसका सामना करना चाहिए। अगर आप चाहते हैं कि बातचीत हो तो उन्हें देना चाहिए। यह मुश्किल नहीं है। आपको मेरे पास आकर मुझसे बात करनी चाहिए थी, मैं कोई काटने वाला नहीं था। मैं वहां बैठूंगा और इसको वैसे ही स्वीकार करूंगा जैसा कि वह है।”

पिछले सीजन में वॉर्नर को आठ मैचों के बाद प्लेइंग इलेवन से हटा दिया गया था क्योंकि SRH आईपीएल 2021 की अंक तालिका में अंतिम स्थान पर था। इसके बाद उन्होंने टी-20 विश्व कप 2021 में मैन ऑफ द सीरीज का पुरस्कार जीतकर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में शानदार वापसी की।