क्या भारत-इंग्लैंड सीरीज में नहीं था बायो बबल? - क्रिकट्रैकर हिंदी

क्या भारत-इंग्लैंड सीरीज में नहीं था बायो बबल?

लंदन से लीड्स की यात्रा के दौरान, यूके सरकार ने कोरोना नियमों में ढील दी थी।

भारत और इंग्लैंड के बीच रद्द हुए आखिरी टेस्ट मैच के बाद कई चीजों को लेकर सवाल  खड़े हो रहे हैं, साथ ही इस दौरान टीम इंडिया के कोच रवि शास्त्री को भी क्रिकेट फैन्स ने निशाने पर लेने का काम शुरू कर दिया है । इस बीच बायो बबल को लेकर एक बड़ी खबर आई है, जो इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड की तैयारियों को घेरे में लेने का काम कर रही है। चलिए जानते है क्या है पूरा मामला।

बायो बबल को लेकर खड़ा हुआ विवाद

कोरोना आने के बाद से क्रिकेट के हर टूर्नामेंट को बायो बबल के बीच कराया जा रहा है, वहीं आईपीएल में कड़े बायो बबल के बीच भी खिलाड़ियों को कोरोना होने पर BCCI सख्त हो गया था। लेकिन इस बार इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड की बड़ी गलती मानी जा रही है, जिसके चलते टेस्ट सीरीज का आखिरी मैच को रद्द करना पड़ गया। साथ ही टीम के इंडिया के प्रमुख कोच रवि शास्त्री समेत कुछ और लोग कोरोना से जूझ रहे हैं।

*टीम के लंदन से लीड्स की यात्रा के दौरान, यूके सरकार ने कोरोना नियमों में ढील दी थी।
*लीड्स के होटल में नहीं था किसी तरह का बायो बबल, बाहर के लोग भी आ रहे थे अंदर।
*इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने नहीं तैयार किया था कड़ा बायो बबल।
*WTC फाइनल की तरह नहीं मिला था टीम इंडिया को कड़ा बबल।

कहां हुई गलती?

सीरीज के दौरान BCCI के साथ यात्रा कर रहे सदस्य ने टाइम्स ऑफ इंडिया के हवाले से बायो बबल को लेकर एक बड़ा बयान दिया है, जिसके मुताबिक…

*मैनचेस्टर के होटल में कोई नियम नहीं थे और बाहर के लोग भी आराम से अंदर आ रहे थे।
*साथी ही खिलाड़ियों द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली लिफ्टों का इस्तेमाल आम जनता करती थी।
*सदस्य ने बताया कि केवल नॉटिंघम में पूरे होटल पर सिर्फ दोनों ही टीमें थी।