गोल्डेन फॉर्म के बाद गेल संन्यास के फैसले पर फिर से सोचने को मजबूर, बदल सकते हैं इरादा - क्रिकट्रैकर हिंदी

गोल्डेन फॉर्म के बाद गेल संन्यास के फैसले पर फिर से सोचने को मजबूर, बदल सकते हैं इरादा

chris gayle ( image source: twitter)
chris gayle ( image source: twitter)

वेस्टइंडीज के क्रिस गेल ने हाल ही में इंग्लैंड के खिलाफ दो वनडे मैचों में छक्कों की बरसात करके दो शतक लगाकर क्रिकेट जगत में सनसनी मचा दी है। वनडे मैचों में अपनी गोल्डन फॉर्म को देखकर क्रिस गेल ने पूर्व में घोषित अपने रिटायरमेंट के फैसले पर नये सिरे से विचार करने के संकेत दिये हैं। उनका कहना है कि अब तब तक खेलेंगे जब तक उनका खेल अच्छा रहेगा।

क्यों किया था रिटायरमेंट का ऐलान

दो वर्षों तक टी20 खेलने के बाद वनडे मैच में लौटे हैं। वेस्ट इंडीज क्रिकेट बोर्ड ने हाल ही में क्रिस गेल से विश्व कप को देखते हुए टीम में शामिल होने का आग्रह किया था। क्रिस गेल ने इस आग्रह को स्वीकारते हुए टीम की कमान संभाल ली। साथ ही उन्होंने विश्व कप के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने का ऐलान कर दिया था। अब दो मैचों मेंं इंग्लैंड के खिलाफ धुआंधार शतक बनाने के बाद वह अब रिटायरमेंट के बारे में नये सिरे से सोचने लगे हैं।

ये है गेल का मैराथन प्रदर्शन

बुधवार को खेले गये मैच में इंग्लैंड द्वारा दिये गये 419 रनों के पहाड़ से लक्ष्य का पीछा करने के लिए जिम्मेदारी लेते हुए गेल ने जमकर बल्ला भांजा। उन्होंने 11 चौके और 14 छक्के लगाते हुए मात्र 97 गेंदों में 162 रनों की पारी खेलते हुए चौंका दिया। गेल के इस 25 वें शतक ने उन्हें 40वें वर्ष में 10000 रन बनाने का रिकार्ड उनके नाम कर दिया है। ब्रायन लारा के बाद यह रिकार्ड बनाने वाले दूसरे वेस्टइंडीज खिलाड़ी हैं।

अब बदल रहे हैं क्यों अपना इरादा

हालांकि दोनों शतक उनके बेकार गये और इंग्लैंड ने दोनो मैच जीत लिये। इसके बावजूद गेल ने अपनी बल्लेबाजी से लोगों को सोचने को मजबूर कर दिया है। मैच के बाद मीडिया से रूबरू होते हुए उन्होंने कहा कि हमने पहले विश्व कप के बाद रिटायरमेंट के बाद संन्यास लेने का जो ऐलान किया था अब मैं अपना खेलना जारी रखूंगा।

सोच रहा था कि मुश्किल होगा वनडे में खेलना

उन्होंने कहा कि खेल में शरीर कितना महत्वपूर्ण है। इस बात पर चर्चा होती है। उन्होंने कहा कि हम यह देख रहे हैं कि 40 साल के करीब हूं लेकिन मैं रिटायर नहीं हुआ हूं। इस बारे में धीरे-धीरे सोच रहा हूं। गेल ने कहा कि मैं काफी समय से टी20 फॉर्मेट में खेल रहा हूं इसलिए यह सोचा रहा था कि हमारे लिए वनडे क्रिकेट थोड़ा मुश्किल हो सकता है। लेकिन भाग्यवश हमारे शरीर ने वनडे फॉर्मेट में अच्छा प्रदर्शन करने में साथ दे दिया है।

फिटनेस में नहीं है कोई उनका सानी

गेल ने अपने 20 साल के कैरियर में 44 अंतरराष्ट्रीय शतक पूरे किये हैं। उन्होंने अपने शरीर को काफी मेनटेन किया है। आज वह 40वें वर्ष में भी वनडे मैच के अनुरूप खुद को फिट किये हुए हैं। उनका कहना है कि वह अपने शरीर पर बहुत ध्यान रखते हैं तभी लोग मुझे मेरे नाम के अनुरूप जान पाते हैं।