किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ जीत के बाद महेंद्र सिंह धोनी ने भी दिए अपने सन्यास लेने के संकेत - क्रिकट्रैकर हिंदी
हिंदी

किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ जीत के बाद महेंद्र सिंह धोनी ने भी दिए अपने सन्यास लेने के संकेत

MS Dhoni
Chennai Super Kings’ MS Dhoni in action. (Photo by IANS)

इंडियन प्रीमियर लीग के 11 वें सीजन में अब लीग मैच खत्म हो चुके है जिसमें इस सीजन प्लेऑफ में पहुँचने वाली चार टीमों की तस्वीर आखिरी मैच में चेन्नई सुपर किंग्स की जीत के बाद पूरी तरह से साफ़ हो चुकी है. किंग्स इलेवन पंजाब जिसने इस सीजन की शुरुआत काफी शानदार तरीके से की थी लेकिन बाद में टीम के प्रदर्शन में ऐसी गिरावट आयीं कि अप्रैल के महीने में पहले स्थान पर रहने वाली पंजाब की टीम ने सीजन खत्म होने पर 7 वें पायदान पर थी.

भज्जी और चहर को भेजने के पीछे ये था कारण

किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ जीत के बाद चेन्नई सुपर किंग्स टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने कहा कि “यदि आप पंजाब की गेंदबाज़ी देखें तो अंकित की गेंद जरुर थोडा स्विंग करेगी और एक कप्तान होने के नाते आप शुरू में अधिक से अधिक विकेट लेने के बारे में सोचेंगे इसलिए भज्जी और चहर को भेज कर हम उनकी इस रणनीति पर रोक लगा सकते थे क्योंकिं इसके बाद गेंदबाज़ अचानक से योर्कर और बाउंसर का इस्तेमाल अधिक करने लगेगा. लेकिन जब एक बल्लेबाज बैटिंग कर रहा होता है तो गेंदबाज़ अपनी लाइन लेंग्थ पर ही टिके रहते लेकिन भज्जी और चहर के खिलाफ वह ऐसा नहीं कर सके जो हमारे प्लान के अनुरूप गया. इसके अलावा भज्जी और चहर प्लेऑफ में भी हमारे लिए काफी कारगर साबित हो सकते है.”

दो साल के बाद आयेगा बड़ा अंतर

महेंद्र सिंह धोनी ने अपने बयान को आगे बढ़ाते हुए कहा कि “एक कप्तान होने के नाते आपके पास जब काफी अनुभव हो तो उससे गेम को समझना काफी आसान हो जाता है वो भी तब जब आपके पास एक अच्छी टीम ना हो तब आपके लिए थोडा कठिन हो जाता है. हमने जिन भी खिलाड़ियों को शामिल किया उन्होंने हमारे लिए अच्छा खेला.”

“सबसे बड़ा अंतर 2 साल के बाद आएगा जब टीम में मौजूद काफी खिलाड़ी नहीं होंगे क्योंकिं वह उस समय टीम में कहीं ना कहीं फिट नहीं बैठेंगे क्रिकेट के इस छोटे प्रारूप में. यदि हम पिछले 10 सालों को देखे तो ये हमारे लिए बेहद शानदार रहे है. हमे इस तरह से प्रोसेस चालू रखना चाहिए इससे हमें अच्छे परिणाम मिलते है. मुझे अभी भी कुछ फाइनल मैच याद है जब कुछ छोटी गलतियों की वजह से हारना पड़ा था फिर चाहे वह एक रन आउट और कुछ बड़े शॉट जिसने पूरे मैच को बदल दिया क्योंकिं हर कोई जीतना चाहता है. टॉप में रहने वाली दो टीमों को थोड़ा लाभ मिलता है लेकिन आपको उस दिन अच्छा खेलना होगा.