भारतीय टीम की नजर 6वें गेंदबाजी विकल्प पर भी है - रोहित शर्मा - क्रिकट्रैकर हिंदी

भारतीय टीम की नजर 6वें गेंदबाजी विकल्प पर भी है – रोहित शर्मा

टी-20 वर्ल्ड कप 2021 की 15 सदस्यीय भारतीय टीम में रवींद्र जडेजा और हार्दिक पांड्या को छोड़कर हरफनमौला खिलाड़ी के तौर पर टीम के पास कोई दूसरा विकल्प मौजूद नहीं है।

Rohit Sharma. (Photo source: Twitter/BCCI)
Rohit Sharma. (Photo source: Twitter/BCCI)

आईसीसी टी-20 वर्ल्ड कप 2021 में सुपर-12 मैचों की शुरुआत 23 अक्टूबर से होगी जिसमें भारतीय टीम अपना पहला मैच 24 अक्टूबर को चिर प्रतिद्वंदी पाकिस्तान के खिलाफ दुबई के मैदान में खेलने उतरेगी। लेकिन उससे पहले टीम इंडिया के लिए जो सबसे बड़ी चिंता सामने आ रही है, उसमें हरफनमौला खिलाड़ी हार्दिक पांड्या का अभी तक एक भी ओवर गेंदबाजी ना करना। जिसमें IPL 2021 सीजन के दूसरे फेज में जब उन्होंने एक भी ओवर गेंदबाजी नहीं की उसके बाद से  लगातार कई सवाल खड़े होते हुए दिखाई दे रहे हैं।

जहां एक तरफ रवींद्र जडेजा का फॉर्म टी-20 में लगातार गेंद से बेहतर देखने को नहीं मिल पाता है, तो ऐसे में भारतीय टीम को 6वें गेंदबाजी विकल्प की भी तलाश जारी है। टीम मैनेजमैंट भी इस समय कुछ इसी विचार के साथ है, जिसमें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अभ्यास मैच के दौरान कप्तानी करने उतरे रोहित शर्मा ने भी टॉस के समय इस बात को कहा कि हम 6वें गेंदबाजी विकल्प को भी ढूंढने की कोशिश कर रहे हैं।

टूर्नामेंट की शुरुआत होने तक हार्दिक गेंदबाजी के लिए तैयार हो जायेंगे

रोहित शर्मा ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अभ्यास मैच में टॉस के दौरान कहा कि, हमारी कोशिश 6वें गेंदबाजी विकल्प पर भी है, जो बल्लेबाजी में भी कुच योगदान देने में कामयाब हो सके। हम इन चीजों को इस वार्म अप मैच में आजमाने की कोशिश करेंगे। हार्दिक की प्रगति अच्छी है, लेकिन अभी तक उसने गेंदबाजी करना शुरू नहीं किया है। लेकिन वह टूर्नामेंट की शुरुआत होने से पहले तक गेंदबाजी शुरू कर सकता है। हमारे प्रमुख गेंदबाज काफी शानदार हैं, लेकिन हमें एक 6वें गेंदबाजी विकल्प की भी तलाश है।

हार्दिक को लेकर रोहित शर्मा के इस बयान के बाद लगभग यह उम्मीद लगाई जा सकती है कि पाकिस्तान के खिलाफ होने वाले पहले मैच में वह गेंदबाजी करते हुए नहीं दिख सकते हैं। जिसके बाद यह देखना दिलचस्प होगा कि भारतीय टीम किस संतुलन के साथ पाकिस्तान के खिलाफ मैच में उतरेगी। जडेजा और पांड्या को छोड़कर भारत की 15 सदस्यीय टीम में कोई विशेषज्ञ हरफनमौला खिलाड़ी नहीं है।