पाकिस्तान दौरे के रद्द होने पर न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने चुप्पी तोड़ते हुए कही यह बड़ी बात - क्रिकट्रैकर हिंदी

पाकिस्तान दौरे के रद्द होने पर न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने चुप्पी तोड़ते हुए कही यह बड़ी बात

पाकिस्तान में अन्य देशों की तरह क्रिकेट होनी चाहिए: केन विलियमसन

Kane Williamson
Kane Williamson. (Photo Source: Getty Images)

न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन का मानना है कि पाकिस्तान के खिलाफ न्यूजीलैंड के दौरे रद्द करने से देश में क्रिकेट पर कोई स्थाई प्रभाव देखने को नहीं मिलेगा। 2003 के बाद पहली बार कीवी टीम पाकिस्तान का दौरा कर रही थी लेकिन सुरक्षा कारणों की वजह से इस दौरे को मेहमान टीम ने सीरीज शुरू होने से पहले ही रद्द कर दिया जिसके बाद न्यूजीलैंड की टीम को अपने फैसले पर मिली-जुली  प्रतिक्रिया मिली।

इसी क्रम में न्यूजीलैंड के खिलाड़ी केन विलियमसन ने भी इस फैसले पर अपनी राय साझा की है। केन विलियमसन ने स्पोर्ट स्टार के माध्यम से ने कहा है कि “उनकी टीम मैदान पर जाने के लिए तैयार थी लेकिन ये फैसला अचानक लिया गया। मुझे उम्मीद है कि आने वाले समय में इसका कोई स्थाई प्रभाव नहीं पड़ेगा क्योंकि क्रिकेट के लिए ये एक विशेष स्थान है। पिछले कुछ समय में पाकिस्तान में क्रिकेट को लेकर काफी प्रगति हुई और उम्मीद है कि आने वाले समय में वहां और क्रिकेट देखने को मिलेगा।”

पाकिस्तान दौरे रद्द होने पर केन विलियम्सन ने क्या कहा ?

केन विलियमसन ने दौरे के रद्द होने को ‘real shame’ बताया। उन्होंने कहा कि दौरे पर क्या कुछ हुए उस बात की विस्तृत जानकारी मेरे पास नहीं है। अपनी बातचीत में आगे बताया कि “मुझे कल के बारे में कुछ नहीं पता, ये सब कुछ अचानक से हुआ लेकिन हां सच में ये शर्म की बात है। पाकिस्तान ने क्रिकेट होना बहुत अच्छी बात है। वहां पर इस खेल को लेकर अलग ही जुनून रहता है और मुझे लगता है कि वहां के लोग इस फैसले से खुश नहीं होंगे। चूंकि इस वक्त मैं आईपीएल खेलने के लिए दुबई में हूं इसलिए वहां के बारे में मेरे पास कोई विस्तृत जानकारी नहीं है”

आगे उन्होंने कहा कि जिस तरह से उस देश के लोगों में क्रिकेट को लेकर प्यार है मेरा मानना है कि वहां पर क्रिकेट खेला जाना चाहिए। विलियमसन ने कहा कि “क्रिकेट को लेकर पूरी दुनियाभर में जुनून देखने को मिलता है विशेष रूप से पाकिस्तान में। वहां पर फिर से क्रिकेट को देखकर काफी अच्छा लग रह था और हमारे खिलाड़ी भी खेलने के लिए तैयार थे। लेकिन खिलाड़ी की सुरक्षा हमारी पहली प्राथमिकता है उसे ही देखते हुए ये फैसला लिया गया।”