in

पकिस्तान बोर्ड मत मांगो BCCI से भींख, भूल जाओ भारत के साथ सीरीज: जावेद मियांदाद

पाकितान के पूर्व कप्तान और कोच जावेद मियांदाद ने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को चेताते हुए कहा की अब भविष्य में भारत से क्रिकेट खेलने के बारे में भूल जाना चाहिए.

Javed Miandad
Javed Miandad. (Photo Source: Twitter)

अरसे से पाकिस्तान, भारत के साथ द्विपक्षीय क्रिकेट सीरीज खेलने के लिए अपनी ऐड़ी चोटी का जोर लगाये हुए है लेकिन हर बार उसके हाथ असफलता ही लगती आयी है. भारत सरकार सीधे तौर पर हर बार पकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के इन प्रस्तावों पर पानी फेर देती है.

इसको देखतें हुए पाकितान के पूर्व कप्तान और कोच जावेद मियांदाद ने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को चेताते हुए कहा की अब भविष्य में भारत से क्रिकेट खेलने के बारे में भूल जाना चाहिए. मियांदाद ने कराची के एक कार्यक्रम में कहा-”वे हमसे नहीं खेलना चाहते, तो ऐसा ही रहेगा. अगर हम भारत से नहीं खेलते तो हमारा क्रिकेट खत्म नहीं होगा। हमें आगे बढ़ना चाहिए और उनके बारे में भूल जाना चाहिए”

इसके साथ ही पाकिस्तान के लिए 124 टेस्ट मैच खेलने वाले मियांदाद ने पाकिस्तान बोर्ड का BCCI से भीख न मांगने को कहते हुए कहा- वे पिछले 10 सालों से हमसे नहीं खेले हैं, तो क्या हुआ? क्या हमारा क्रिकेट नीचे चला गया है? नहीं, हमने अच्छा किया है। चैंपियंस ट्राफी में खिताबी जीत इसका उदाहरण है.”अपनी बात को आगे बढाते हुए मियांदाद बोले- “पाकिस्तान में क्रिकेट खत्म नहीं हो सकता. 2009 के बाद हम बिना अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के ही हैं”.

आपको बता दें की पकिस्तान क्रिकेट बोर्ड में चल रही थोड़ी बहुत कड़की को देखतें हुए बोर्ड के अधिकारी वक़्त दर वक़्त BCCI से द्विपक्षीय सीरीज खेलने की गुहार लगातें रहते है क्योंकि भारत-पाक सीरीज एशिया की सबसे बड़ी सीरीज मानी जाती है जिसे दोनों ही देशों के लोग एक जंग की तरह इन दोनों चिर-प्रतिद्वंदी के बीच होने वाले मैचों को देखतें है.

जिससे कमाई के आसार दोगुने हो जाते हैं. इन सबको देखतें हुए पकिस्तान क्रिकेट बोर्ड भारत से खेलने के लिए हर संभव प्रयास करता रहता है लेकिन भारत में 2008 को हुए मुंबई आंतकी हमलें के बाद से जिसमे पाकिस्तान के आतंकियों का हाथ था तबसे दोनों देशों के बीच राजनीतिक तनाव के चलते 2012 के बाद से कोई भी द्विपक्षीय क्रिकेट नहीं खेला गयी है और ना ही भविष्य में भारत की ओर से इसे लेकर कोई शुभ संकेत नज़र आ रहे हैं.

Jasprit Bumrah

बुमराह से पहले इन दो भारतीय तेज़ गेंदबाजों को भी मिल चुका है साउथ अफ्रीका में पदार्पण का मौका

Michael Hussey

चेन्नई सुपर किंग्स ने माइकल हसी को अपनी टीम का बल्लेबाजी कोच नियुक्त किया