तो इस वजह से भारत और पाकिस्तान के बीच टी-20 वर्ल्ड कप का फाइनल देखना चाहते हैं शोएब अख्तर - क्रिकट्रैकर हिंदी

तो इस वजह से भारत और पाकिस्तान के बीच टी-20 वर्ल्ड कप का फाइनल देखना चाहते हैं शोएब अख्तर

मौजूदा टी-20 वर्ल्ड कप में एक बार भारत को हरा चुका है पाकिस्तान।

Shoaib Akhtar speaking
Shoaib Akhtar speaking. (Photo Source: Facebook)

मौजूदा टी-20 वर्ल्ड कप 2021 धीरे-धीरे नॉकआउट फेज की तरफ बढ़ रहा है। पाकिस्तान, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया की टीम इस टी-20 वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में अपनी जगह पक्की कर चुकी हैं। वहीं, बचे हुए एक स्थान के लिए भारत, न्यूजीलैंड और अफगानिस्तान के बीच जंग जारी है। इसी बीच पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने मौजूदा टी-20 वर्ल्ड कप के फाइनल को लेकर बड़ा बयान दिया है।

भारत-पाकिस्तान को फिर से एक साथ देखना चाहते हैं शोएब अख्तर

शोएब अख्तर जाहिर तौर पर फाइनल में पाकिस्तान को अपने कट्टर प्रतिद्वंद्वियों के खिलाफ खेलते हुए देखना चाहते हैं। शोएब अख्तर ने अपने यूट्यूब चैनल पर कहा, “कई लोग कह रहे हैं कि न्यूजीलैंड को (अफगानिस्तान को हराकर) भारत को टूर्नामेंट से बाहर कर देना चाहिए। मैं न्यूजीलैंड की ओर से नहीं बोल सकता। मैं केवल यह आशा करता हूं कि पाकिस्तान ग्रुप-2 में शीर्ष पर रहे। हमें बाकी परिणामों के बारे में चिंता नहीं करनी चाहिए।”

उन्होंने आगे कहा कि, “यदि आप स्कॉटलैंड को हराते हैं, तो आप ग्रुप में शीर्ष पर रहेंगे। आपको इस बात की चिंता नहीं करनी चाहिए कि आप किस टीम के खिलाफ खेलते हैं। हां, मेरी एक इच्छा है, जैसा कि मैंने पहले कहा था कि भारत के खिलाफ सिर्फ एक मैच ही क्यों खेलें? फाइनल क्यों नहीं खेलते? और एक फाइनल (भारत और पाकिस्तान के बीच) संभव है। भारत अगर पाकिस्तान के खिलाफ फाइनल खेलता है तो यह क्रिकेट के लिए अच्छा होगा। यह विश्व कप को और बड़ा बनाने वाला है।”

बता दें कि पाकिस्तान और भारत प्रतियोगिता के अपने-अपने शुरुआती मुकाबले में एक-दूसरे से भिड़े थे। उस मैच में पाकिस्तान ने 10 विकेट की जोरदार जीत के साथ सभी को चौंका दिया था और साथ ही ICC टूर्नामेंट में पाकिस्तान के खिलाफ भारत की लंबे समय से चला आ रहा जीत का सिलसिला भी खत्म हो गया।

वहीं, आगे के मैचों में भारत को न्यूजीलैंड के खिलाफ एक और हार का सामना करना पड़ा और उस समय ऐसा लगा कि भारत का टी-20 वर्ल्ड कप अभियान खत्म हो गया। हालांकि, अफगानिस्तान और स्कॉटलैंड के खिलाफ जोरदार जीत ने भारतीय प्रशंसकों के बीच उम्मीदों को एक बार फिर जगा दिया।