मैच के दौरान क्रुणाल पांड्या ने कायरन पोलार्ड के साथ जो किया वह सही नहीं था - पार्थिव पटेल - क्रिकट्रैकर हिंदी

मैच के दौरान क्रुणाल पांड्या ने कायरन पोलार्ड के साथ जो किया वह सही नहीं था – पार्थिव पटेल

इस समय पोलार्ड को अकेले रहने देना चाहिए। ड्रेसिंग रूम और मैदान में फर्क होता है और ये बात क्रुणाल को समझनी चाहिए।

Krunal Pandya & Kieron Pollard. (Photo Source: IPL/BCCI)
Krunal Pandya & Kieron Pollard. (Photo Source: IPL/BCCI)

पूर्व भारतीय क्रिकेटर पार्थिव पटेल ने 24 अप्रैल को हुए लखनऊ सुपर जायंट्स (LSG) बनाम मुंबई इंडियंस (MI) मुकाबले में क्रुणाल पांड्या के व्यवहार को लेकर अपनी बात रखी है। उन्होंने कहा कि दोनों की आपस में अच्छी दोस्ती होने के बावजूद क्रुणाल ने जो भी किया वो गलत था। बता दें कि लखनऊ बनाम मुंबई मुकाबले का आखिरी ओवर कराने आए क्रुणाल ने ओवर की पहली गेंद में पोलार्ड का विकेट ले लिया।

विकेट के गिरते ही पोलार्ड पवेलियन की ओर जाने लगे। पीछे से पांड्या उनके ऊपर कूद गए और पीछे से गले लग गए। हालांकि कॉमेंटेटर और दर्शक क्रुणाल के इस व्यवहार से खुश नहीं हुए। वैसे तो यह सभी जानते हैं कि यह दोनों आपस में बहुत अच्छे दोस्त हैं। क्रुणाल पिछले साल तक मुंबई इंडियंस टीम का हिस्सा रहे है। इस साल मेगा ऑक्शन में लखनऊ सुपर जांयट्स टीम ने उनको अपनी फ्रेंचाइजी में जोड़ा।

यह जरूरी है कि उस समय लोग दूसरों को समय दें: पार्थिव पटेल

पूर्व भारतीय क्रिकेटर पार्थिव पटेल ने कहा कि पांड्या ने जो किया वो गलत था और उनको ऐसा नही करना चाहिए था। उनको यह भी सोचना चाहिए था कि इस समय जो मुंबई का फॉर्म है वो सही नहीं चल रहा है। उन्होंने ये भी कहा कि, पोलार्ड को थोड़ा समय दें क्योंकि उनका बल्ला इस पूरे टूर्नामेंट में अभी तक नहीं चला है।

पार्थिव पटेल ने क्रिकबज से बात करते हुए कहा कि क्रुणाल और पोलार्ड काफी अच्छे दोस्त हैं लेकिन मैदान पर चीजें काफी अलग होती है। पोलार्ड इस समय रन नहीं बना रहे हैं और मुंबई का हाल भी सभी लोग जानते हैं। इस समय पोलार्ड को अकेले रहने देना चाहिए। ड्रेसिंग रूम और मैदान में फर्क होता है और ये बात क्रुणाल को समझनी चाहिए।

सिर्फ पार्थिव पटेल नहीं पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज आरपी सिंह ने भी क्रुणाल के इस व्यवहार पर कहा है कि उनको ऐसा नहीं करना चाहिए था क्योंकि पोलार्ड इस समय अपनी लय में नहीं है।

कोई भी हारना नहीं चाहता और जब खिलाड़ी का फॉर्म नहीं चल रहा हो तो दूसरों को ऐसा व्यवहार नहीं करना चाहिए। पता नहीं उस खिलाड़ी के दिमाग में क्या चल रहा हो। पांड्या को यह भी समझना चाहिए कि अगर उनकी इस हरकत से पोलार्ड उनको उस समय कुछ बोल देते तो उनको अच्छा नहीं लगता। पोलार्ड भी काफी परेशान है क्योंकि वो अपनी टीम को मुकाबले नहीं जीता पा रहे हैं।