रवि शास्त्री ने भारतीय टीम के खिलाड़ियों के लिए यो-यो टेस्ट के मानक को बढ़ाया - क्रिकट्रैकर हिंदी
हिंदी

रवि शास्त्री ने भारतीय टीम के खिलाड़ियों के लिए यो-यो टेस्ट के मानक को बढ़ाया

Bharat Arun & Ravi Shastri. (Photo Source: Twitter)
Bharat Arun & Ravi Shastri. (Photo Source: Twitter)

भारतीय क्रिकेट टीम अफगानिस्तान के साथ 14 जून को ऐतिहासिक टेस्ट मैच बेंगलुरु के एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेलने जा रही है. जहाँ अफगानिस्तान टीम अपने पहले अंतर्राष्ट्रीय टेस्ट मैच को यादगार बनाना चाहती है तो वहीँ भारतीय टीम नयें सीजन की शुरुआत शानदार तरीके से करना चाहेगी. राशिद खान बनाम चेतेश्वर पुजारा के अलावा काफी सारे मुकाबले मैच में देखने को मिलेंगे.

जहाँ भारतीय टीम अफगानिस्तान के साथ होने वाले टेस्ट मैच में व्यस्त है तो वहीँ भारतीय ए टीम इंग्लैंड के रवाना हो चुकी है जहाँ पर वह ट्राई सीरीज में हिस्सा लेगी जिसमें इंग्लैंड लायंस और वेस्टइंडीज ए की टीम के साथ खेलेगी. इसके अलावा भारतीय ए टीम वेस्टइंडीज ए के खिलाफ 2 अनऑफिशियल टेस्ट मैच भी खेलेगी.

खिलाड़ियों के फिटनेस को लेकर सवाल

फिटनेस को लेकर भारतीय टीम के खिलाड़ियों को अब यो-यो टेस्ट को पास करना अनिवार्य कर दिया गया है और पूरे देश में फैन्स उस समय सकते में आ गयें जब युवा खिलाड़ी संजू सैमसन इंग्लैंड में भारतीय ए टीम के दौरे पर यो – यो टेस्ट को पास नहीं कर सके. मोहम्मद शमी भी इस टेस्ट को को पास नहीं करने के बाद उन्हें अफगानिस्तान के खिलाफ टेस्ट मैच से बाहर कर दिया गया है. भारतीय टेस्ट टीम के खिलाड़ियों को 16.1 का स्कोर करना था यो-यो टेस्ट करने के लिए लेकिन शमी ऐसा करने में कामयाब नहीं हो सके. इशान किशन को संजू सैमसन की जगह पर शामिल किया गया है तो नवदीप सैनी को शमी की जगह भारतीय टीम में जगह मिली है.

कुछ खिलाड़ियों का यो-यो टेस्ट को पास नहीं करने के बाद भारतीय टीम के मुख्य कोच ने बड़ा फैसला लेते हुए यो-यो टेस्ट के मानक को 16.1 से बढाकर 16.3 कर दिया है जिसके बाद जो भी फिट खिलाड़ी होंगे उन्हें अपने स्तर को और अधिक बढ़ाना होगा साथ ही अनफिट खिलाड़ियों को टीम से बाहर होना पड़ेगा. ऐसा निर्णय अगले साल होने वाले विश्वकप को लेकर लिया गया है. इस बारे में टाइम्स ऑफ इण्डिया में भी खबर छप चुकी है जिसमें भारतीय टीम और ए टीम मैनेजमेंट के साथ चयनकर्ताओं ने ये निर्णय पिछले साल लिया था लेकिन इसे लागू अब किया गया है.

एक सूत्र ने टाइम्स ऑफ इण्डिया को बयान देते हुए बताया कि “रवि ने सभी खिलाड़ियों से कह दिया था कि उन्हें यो-यो टेस्ट पास करना अनिवार्य है उन्होंने ऐसा निर्णय आने वाले कठिन विदेशी दौरों को लेकर लिया जिसमें विश्वकप भी शामिल है और ऐसा ही भारतीय ए टीम के खिलाड़ियों को भी करना है.”