साउथ अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज में जसप्रीत बुमराह को टीम का उप-कप्तान बनाए जाने पर सभी हैरानी क्यों व्यक्त कर रहे हैं! - क्रिकट्रैकर हिंदी

साउथ अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज में जसप्रीत बुमराह को टीम का उप-कप्तान बनाए जाने पर सभी हैरानी क्यों व्यक्त कर रहे हैं!

साउथ अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज के लिए जसप्रीत बुमराह को टीम का उप-कप्तान बनाए जाने के फैसले ने सभी को हैरानी में डाल दिया।

Jasprit Bumrah. (Photo by AAMIR QURESHI/AFP via Getty Images)
Jasprit Bumrah. (Photo by AAMIR QURESHI/AFP via Getty Images)

साउथ अफ्रीका के दौरे पर भारतीय टीम को 3 मैचों की टेस्ट सीरीज खत्म होने के बाद 3 मैचों की वनडे सीरीज भी खेलनी है। जिसको लेकर काफी देर से ही सही लेकिन भारतीय क्रिकेट टीम के चयनकर्ताओं ने 31 दिसंबर 2021 की शाम को टीम का ऐलान कर दिया। जिसमें लिमिटेड ओवर्स कप्तान रोहित शर्मा के पूरी तरह फिट ना होने के चलते लोकेश राहुल को इस सीरीज में कप्तानी की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

वहीं वनडे सीरीज में जिस एक फैसले ने सभी को चौंकाया वह उप-कप्तानी की जिम्मेदारी थी, जो श्रेयस अय्यर या फिर रिषभ पंत को ना देते हुए चयनकर्ताओं ने तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह को देने का फैसला किया है। जिसको लेकर यह कयास लगाए जा रहे हैं, कि चयनकर्ताओं ने अय्यर और पंत को यह संदेश देने की कोशिश की है कि वह अपने खेल में निरंतरता लाए ताकि आने वाले समय में उन्हें इस जिम्मेदारी के लिए उपयुक्त समझा जा सके।

न्यूज-18 से इसी विषय को लेकर एक सूत्र ने दिए अपने बयान में कहा कि, यह सिर्फ एक सीरीज को लेकर फैसला लिया गया है, क्योंकि रोहित शर्मा इसके बाद वेस्टइंडीज और श्रीलंका के खिलाफ घरेलू सीरीज में वापसी करने वाले हैं। उसके बाद लोकेश राहुल उप-कप्तानी की जिम्मेदारी संभालते हुए नजर आयेंगे। वहीं चयनकर्ताओं ने बुमराह की काबिलियत को देखते हुए उन्हें यह जिम्मेदारी इस सीरीज के दौरान देने का फैसला किया है।

एमएसके प्रसाद ने बुमराह की नियुक्ति पर दिया यह बयान

भारतीय टीम के पूर्व मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने भी इस फैसले को लेकर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यदि रोहित और राहुल दोनों ही वनडे सीरीज के लिए उपलब्ध ना होते तो बुमराह को कप्तानी की जिम्मेदारी नहीं सौपी जाती। जिसमें उनके लिए सिर्फ एक सीरीज के लिए बुमराह को टीम का उप-कप्तान बनाने का फैसला थोड़ा आसान काम जरूर था।

प्रसाद ने दिए अपने बयान में कहा कि, जसप्रीत बुमराह एक शानदार खिलाड़ी हैं, जिसको उन्होंने कई बार साबित भी किया है। जिसके बाद क्यों नहीं उन्हें इस जिम्मेदारी के साथ एक सम्मान देना चाहिए। मैं इस फैसले को पूरी तरह से पसंद करता हूं क्योंकि एक तेज गेंदबाज भी कप्तानी की जिम्मेदारी को बखूबी निभा सकता है।