कोच बनने के बाद राहुल द्रविड़ ने सबसे पहले कौन सा काम किया था, हिटमैन ने किया खुलासा - क्रिकट्रैकर हिंदी

कोच बनने के बाद राहुल द्रविड़ ने सबसे पहले कौन सा काम किया था, हिटमैन ने किया खुलासा

राहुल द्रविड़ के कोच बनने से खिलाड़ियों को अच्छा स्ट्रक्चर मिलेगा- रोहित शर्मा

India A coach Rahul Dravid (Photo by Mike Egerton/PA Images via Getty Images)
India A coach Rahul Dravid (Photo by Mike Egerton/PA Images via Getty Images)

राहुल द्रविड़ ने 2021 टी-20 वर्ल्ड कप के बाद टीम इंडिया के मुख्य कोच के रूप में पदभार संभाला था और उनकी कोचिंग में भारतीय टीम न्यूजीलैंड के खिलाफ टी-20 और टेस्ट सीरीज जीतने में कामयाब रही थी। इसी बीच रोहित शर्मा ने पूर्व भारतीय बल्लेबाज की जमकर प्रशंसा की है। रोहित को हाल ही में भारत का सफेद गेंद का कप्तान नियुक्त किया गया था।

उन्होंने कहा कि द्रविड़ ने एक खिलाड़ी के रूप में कड़ी मेहनत की। शर्मा को लगता है कि द्रविड़ यह सुनिश्चित करेंगे कि टीम उनकी कड़ी मेहनत की संस्कृति को बनाए रखे। कोच राहुल द्रविड़ को लेकर रोहित शर्मा ने पत्रकार बोरिया मजूमदार के स्पेशल शो ‘Backstage with Boria’ में खुलकर बात की है और सभी तरह के मुद्दों पर अपनी राय रखी है।

राहुल द्रविड़ की कोचिंग को लेकर रोहित शर्मा ने दिया बड़ा बयान

उस शो पर रोहित ने सबसे पहले कहा कि, “राहुल भाई एक शानदार क्रिकेटर थे, हम सभी जानते हैं कि इसमें कोई शक नहीं है। हम सभी जानते हैं कि उन्होंने अपना क्रिकेट कैसे खेला है। वह खुद सामने आए हैं और कई मौकों पर कहा है कि वह इतने प्रतिभाशाली नहीं थे। आज वह जहां है वहां पहुंचने के लिए उन्हें काफी मेहनत करनी पड़ी। मुझे लगता है कि यह इस टीम पर भी लागू होगा।”

भारतीय वनडे कप्तान ने यह भी कहा कि द्रविड़ के कोचिंग में खिलाड़ियों के लिए अधिक स्पष्टता होगी। उन्होंने कहा कि,”द्रविड़ की कोचिंग में एक बढ़िया स्ट्रक्चर मिलेगा, इसलिए लोग इसका आनंद लेंगे। जो लोग आ रहे हैं, बाहर जा रहे हैं। उनके पास इतनी स्पष्टता होगी कि वो टीम से बाहर क्यों थे, वो टीम में क्यों आए और वह सब। वह ऐसा कुछ है जिसे वह बनाने में सक्षम होंगे।”

रोहित ने यह भी कहा कि, “कोच बनने के बाद वह व्यक्तिगत रूप से हर एक खिलाड़ी के पास आए है और इस बारे में बात की है कि खिलाड़ी खुद के बारे में क्या महसूस करते हैं और इस टीम में किस तरह की भूमिका की तलाश में हैं और उन्हें क्या पेश करना है, बल्लेबाजी करने के लिए कौन सी स्थिति उनके लिए सबसे अच्छी होगी और ऐसा ही व्यवहार उनका गेंदबाजों के साथ भी है।”