विराट-BCCI मुद्दे पर चेतन शर्मा ने दिया बयान, तो सलमान बट पढ़ाने लगे उन्हें सही-गलत का पाठ - क्रिकट्रैकर हिंदी

विराट-BCCI मुद्दे पर चेतन शर्मा ने दिया बयान, तो सलमान बट पढ़ाने लगे उन्हें सही-गलत का पाठ

बट के अनुसार, चेतन शर्मा इस पूरे मामले पर टिप्पणी नहीं करने का विकल्प चुन सकते थे।

Salman Butt
Salman Butt. (Photo Source: ARIF ALI/AFP via Getty Images)

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान सलमान बट ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के मुख्य चयनकर्ता चेतन शर्मा पर टी-20 की कप्तानी विवाद के बारे में विराट कोहली के बयान के लिए कटाक्ष किया है। दक्षिण अफ्रीका टेस्ट की शुरुआत से पहले, कोहली ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की और कहा कि उन्हें बोर्ड के किसी भी सदस्य ने कप्तानी नहीं छोड़ने के लिए मना नहीं किया था।

हालांकि यह गांगुली द्वारा पहले दिए गए उस बयान का खंडन करता है जिसमें उन्होंने कहा था कि उन्होंने व्यक्तिगत रूप से कोहली को टी-20 की कप्तानी नहीं छोड़ने के लिए कहा था। इसने खिलाड़ियों और बोर्ड के बीच कम्युनिकेशन गैप को दर्शया था और कई विवादों को भी जन्म दिया। इसके बाद दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज के लिए टीम का ऐलान करते वक्त मुख्य चयनकर्ता चेतन शर्मा ने भी इसपर राय दी थी।

चेतन शर्मा को लेकर सलमान बट ने दी बड़ी प्रतिक्रिया

चेतन शर्मा का बयान सुनने के बाद सलमान बट का मानना है कि, भारतीय टीम इस वक्त दक्षिण अफ्रीका में टेस्ट सीरीज खेल रही है और ऐसे में मुख्य चयनकर्ता होने के नाते उनको ऐसा बयान देने की जरूरत बिल्कुल भी नहीं थी। ये सभी बातें सलमान बट ने अपने आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर कही थी।

बट ने कहा कि, ” इस तरह का बयान दोबारा सामने नहीं आना चाहिए था। इस विवादित विषय को दोबारा से छेड़ने की जरूरत नहीं थी क्योंकि भारतीय टीम इस वक्त विराट कोहली की कप्तानी में टेस्ट सीरीज खेल रही है। उन्होंने पहला मैच जीता है और अब टेस्ट सीरीज जीतने की कगार पर हैं।

पूर्व पाकिस्तानी कप्तान ने चेतन शर्मा के बयान पर तंज कसते हुए कहा कि जिसके बारे में आपने बयान दिया है वो अभी भारतीय टेस्ट टीम का कप्तान है और जिसके बयान का हवाला आपने दिया है वो इस वक्त कोरोना से जूझ रहे हैं। इन हालातों में ऐसी बेकार की बातें नहीं की जानी चाहिए थी।

अंत में बट ने ये भी कहा कि, “गलत संचार हर समय होता है, यह इतनी बड़ी बात नहीं है। और जब टीम जीत रही हो और लय में हो, तो ये बातचीत अनावश्यक है और इस मुद्दे को फिर से वापस नहीं लाना चाहिए। अगर किसी ने आपसे यह सवाल पूछा होता, तो आपको आगे बढ़ जाना चाहिए था।”