आखिर क्यों सुनील गावस्कर चाहते हैं कि नए साल में विराट कोहली सबसे पहले सचिन को फोन करें - क्रिकट्रैकर हिंदी

आखिर क्यों सुनील गावस्कर चाहते हैं कि नए साल में विराट कोहली सबसे पहले सचिन को फोन करें

विराट कोहली के बल्ले से आखिरी शतक साल 2019 में आया था।

Sunil Gavaskar and Virat Kohli
Sunil Gavaskar and Virat Kohli. (Photo Source: Getty Images & Twitter)

2021 में टेस्ट क्रिकेट में भारत का दबदबा रहा, विराट कोहली की अगुवाई वाली टीम ने इस साल ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और दक्षिण अफ्रीका हर जगह जाकर टेस्ट मैच जीतने में कामयाब रही। आईसीसी रैंकिंग में भी टीम 124 रेटिंग अंकों के साथ टेस्ट में पहले स्थान पर है। भारतीय गेंदबाजी आक्रमण वर्तमान में दुनिया में सर्वश्रेष्ठ में से एक है और पिछले कुछ वर्षों में टीम को कई मैच जीतने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

हालांकि, बतौर बल्लेबाज विराट कोहली संघर्ष करते रहे और उनके 71वें अंतरराष्ट्रीय शतक का इंतजार जारी रहा। उन्होंने 2019 के बाद से किसी भी प्रारूप में शतक नहीं बनाया है। सेंचुरियन टेस्ट में, कोहली ने दो पारियों में क्रमशः 35 और 18 रन बनाए और दोनों मौकों पर ऑफ स्टंप के बाहर की गेंदों पर छेड़खानी करते हुए आउट हुए।

सचिन से सबक लेकर विराट कोहली वापस हासिल कर सकते हैं अपना फॉर्म- सुनील गावस्कर

स्टार स्पोर्ट्स पर मैच के बाद के शो में सुनील गावस्कर ने कहा कि, कोहली को सचिन तेंदुलकर को फोन करना चाहिए। गावस्कर ने 2003-04 में भारत के ऑस्ट्रेलिया दौरे को याद किया जहां मास्टर ब्लास्टर ने सिडनी टेस्ट की पहली पारी में दोहरा शतक लगाया था। सचिन ने दूसरी पारी में भी अर्धशतक बनाया जिससे भारतीय टीम को मैच ड्रॉ कराने में मदद मिली और सीरीज 1-1 के बराबरी पर खत्म हुई।

गावस्कर ने कहा कि, “कोहली की बात करें तो उनके लिए ये अच्छा होगा अगर वह सचिन तेंदुलकर को नए साल की शुभकामनाएं देने के लिए फोन करें और उनसे पूछें कि साल 2003-04 में ऑस्ट्रेलिया दौरे पर उन्होंने इसी तरह आउट होने के बाद ऑफ स्टंप के बाहर के शॉट्स पर कैसे नियंत्रित किया था।”

पूर्व दिग्गज बल्लेबाज ने आगे कहा कि, “सचिन भी ऑस्ट्रेलिया में लगातार ऐसे ही आउट हो रहे थे। वह ऑफ स्टंप के बाहर की गेंदों पर ड्राइव खेलते हुए अपना विकेट दे रहे थे। इसके बाद उन्होंने सिडनी टेस्ट में कवर ड्राइव नहीं खेलने का फैसला किया। सचिन की यह तरकीब काम कर गई और उन्होंने उस मैच में दोहरा शतक लगाया और दूसरी पारी में अर्धशतक लगाया था।”