फिर से चोटिल होने की वजह से IPL 2022 सीजन के बाकी बचे मैचों से बाहर हुए सूर्यकुमार यादव - क्रिकट्रैकर हिंदी

फिर से चोटिल होने की वजह से IPL 2022 सीजन के बाकी बचे मैचों से बाहर हुए सूर्यकुमार यादव

सूर्यकुमार यादव IPL 2022 सीजन के शुरुआती कुछ मैचों में अनफिट होने की वजह से हिस्सा नहीं ले सके थे।

Suryakumar Yadav. (Photo Source: IPL/BCCI)
Suryakumar Yadav. (Photo Source: IPL/BCCI)

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) 2022 का सीजन मुंबई इंडियंस (MI) की टीम के लिए मैदान के अंदर के साथ बाहर भी काफी खराब रहा है। जिसमें टीम का फील्ड पर उस तरह से प्रदर्शन देखने नहीं मिला जिसकी सभी को उम्मीद थी। वहीं टीम के प्रमुख खिलाड़ी या तो सीजन के शुरू होने से पहले अनफिट होने की वजह से बाहर हो गए या फिर सीजन के बीच में बाहर होने का एक सिलसिला देखने को मिला। जिसका असर टीम के संतुलन पर साफतौर पर देखने को मिला है।

जिसके बाद अब 9 मई को कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) के खिलाफ मुकाबले से पहले मुंबई इंडियंस की टीम को एक और बड़ा झटका सूर्यकुमार यादव के रूप में लगा जो अभी तक मध्यक्रम में अहम भूमिका बल्ले से निभा रहे थे। दरअसल गुजरात टाइटंस (GT) के खिलाफ पिछले मुकाबले में सूर्यकुमार यादव बल्लेबाजी के दौरान एक बार फिर से अपने बाएं हाथ के अंगूठे को चोटिल कर बैठे।

जिसके चलते अब वह इस सीजन के बाकी बचे मैचों में हिस्सा नहीं ले पायेंगे। इससे पहले सीजन की शुरुआत में भी सूर्यकुमार यादव इसी चोट से पूरी तरह से ठीक होने के बाद टीम के साथ जुड़ पाए थे, जिसमें उन्हें शुरुआती कुछ मुकाबलों से बाहर बैठना पड़ा था। सूर्यकुमार यादव ने इस सीजन में खेले 8 मुकाबलों में 43.29 के औसत से कुल 303 रन बनाए जिसमें उन्होंने 3 अर्धशतकीय पारियां खेली।

मुंबई के लिए यह सीजन रहा बेहद खराब

मुंबई इंडियंस के इस सीजन में प्रदर्शन की बात की जाए तो वह बेहद ही खराब देखने को मिला है, जिसमें टीम को अपने शुरुआती 8 मुकाबलों में लगातार हार का सामना करना पड़ा। जिसके चलते टीम इस सीजन में प्लेऑफ की दौड़ से बाहर होने वाली पहली टीम बन गई थी। हालांकि उसके बाद टीम ने अगले 2 मुकाबलों में जरूर जीत हासिल की लेकिन उसमें भी प्रमुख खिलाड़ियों का फॉर्म उस स्तर का देखने को नहीं मिला जिसकी लगातार फैंस उम्मीद कर रहे हैं।

टीम के कप्तान रोहित शर्मा ने शुरुआती ओवरों में जरूर कुछ रन बनाए लेकिन उसे बड़ी पारियों में तब्दील करने में कामयाब नहीं हो सकी, जबकि इशान किशन ने पहले कुछ मैचों में बेहतर पारियां जरूर खेली लेकिन उसके बाद उनके फॉर्म में लगातार गिरावट देखने को मिली। इसके अलावा जसप्रीत बुमराह भी गेंदबाजी से कुछ खास प्रभाव छोड़ने में कामयाब नहीं हो सके हैं।