हार्दिक पांड्या ने बताया कैसे बने वो इतने बड़े ऑलराउंडर - क्रिकट्रैकर हिंदी

हार्दिक पांड्या ने बताया कैसे बने वो इतने बड़े ऑलराउंडर

हार्दिक पांड्या ने बल्लेबाज से ऑलराउंडर बनने की अपनी कहानी बताई।

Hardik Pandya
Hardik Pandya. (Photo Source: Getty Images)

टी-20 वर्ल्ड कप के लिए भारत की तैयारी जोर-शोर से चल रही है, जिसमें टीम का ऐलान भी कर दिया है। इस विश्व कप के लिए टीम में तेज गेंदबाजी ऑलराउंडर की भूमिका निभाने के लिए हार्दिक पांड्या को जगह दी गई है। चोटिल होने के कारण हार्दिक पिछले कुछ समय से टीम से अंदर-बाहर होते रहे हैं। वह हाल ही में श्रीलंका दौरे पर टीम के साथ दिखे थे लेकिन पिछले कुछ समय से हार्दिक ज्यादा गेंदबाजी करते हुए नहीं दिखे हैं।

हार्दिक पांड्या ने भारत के लिए कई मैच जिताऊ पारियां खेली हैं और कुछ मौकों पर अच्छी गेंदबाजी भी की है। लेकिन 2019 में पीठ में चोट लगने के बाद से वो अधिक गेंदबाजी करते हुए नहीं दिखे हैं इसलिए जब उनका चयन वर्ल्ड कप की टीम में हुआ तो मुख्य चयनकर्ता चेतन शर्मा से उनकी गेंदबाजी पर अपडेट मांगा गया। उसके जवाब में चेतन शर्मा ने कहा कि हार्दिक अब पूरी तरह फिट हैं और वर्ल्ड कप के हर मैच में वो अपने कोटे का चार ओवर डालेंगे।

हार्दिक पांड्या का ऑलराउंडर बनने तक का सफर 

हाल ही में एक इंटरव्यू में जब हार्दिक से पूछा गया कि वो ऑलराउंडर कैसे बने, तो उस पर उनका जवाब आया कि इसके पीछे भाग्य और संयोग था। हिन्दुस्तान टाइम्स से बातचीत करने के दौरान हार्दिक ने कहा कि “मैं संयोग से ऑलराउंडर बन गया। ये तब हुआ जब मैं 19 साल का था। जब मैंने भारत के लिए खेलना शुरू किया, उससे पहले मैंने मुश्किल से एक साल गेंदबाजी की थी।”

हार्दिक ने अपनी बात आगे बढ़ाते हुए कहा कि “मैंने गेंदबाजी की शुरुआत अंडर-19 के गेंदबाजों को मदद करने के लिए की थी क्योंकि वो गेंदबाजी करके काफी थक गए थे। मेरे पास उस समय तक गेंदबाजी करने वाले जूते तक नहीं थे।”

हार्दिक पांड्या का गेंदबाजी में प्रदर्शन

हार्दिक ने भारत के लिए टी-20, वनडे और टेस्ट मैचों में कुल 116 विकेट झटके हैं। जूनियर पांड्या ने अब तक कुल 165 टी-20 मैच खेले हैं जिसमें उनके नाम 110 विकेट दर्ज हैं। हार्दिक पांड्या 19 सितम्बर से शुरू होने वाले आईपीएल फेज-2 में मुंबई इंडियंस के लिए खेलते हुए दिखेंगे।