रिकी पोंटिंग को हर्ट करने वाले केमार रोच की सनसनाती गेंदों का इंग्लैंड के पास जवाब नहीं - क्रिकट्रैकर हिंदी

रिकी पोंटिंग को हर्ट करने वाले केमार रोच की सनसनाती गेंदों का इंग्लैंड के पास जवाब नहीं

Kemar Roach (Twitter)
Kemar Roach (Twitter)

कई बार गेंदबाज ऐसा स्पैल डाल देते हैं जिससे टेस्ट मैच का फैसला तय हो जाता है। मिसाल के तौर पर केमार रोच का स्पैल। इंग्लैंड के खिलाफ इस बंदे ने पहले टेस्ट मैच में इंग्लैंड की पहली पारी में 17 रन देकर पांच विकेट उखाड़ फेंके और इस स्पैल से तय हो गया कि वेस्ट इंडीज टेस्ट मैच जीतेगा और वैसा ही हुआ। केमार रोच ने इंग्लैंड को इतनी पीछे धकेला कि वहां से वापसी करना टीम इंग्लैंड के लिए मुश्किल हो गया। ऐसा ही कुछ दूसरे टेस्ट में हुआ।

दूसरे टेस्ट मैच में भी केमार रोच ने जादुई स्पैल डाला और इंग्लैंंड के बल्लेबाज़ों को धराशायी कर दिया और विंडीज़ को मैच जिता दिया। पहली पारी में 15 ओवर में 30 रन देकर इंग्लैंड के चार विकेट उखाड़ दिए। दूसरी पारी में भी उन्होंने 4 विकेट लिए और वे मैन ऑफ द मैच रहे।

केमार रोच का तोड़ इंग्लैंड के बल्लेबाजों के पास नहीं हैं और वे घबराए हुए हैं। उन्हें समझ नहीं आ रहा है कि केमार रोच नामक आंधी से कैसे निपटा जाए। अपनी स्पीड से केमार रोच ने इंग्लिश बल्लेबाजों को अचंभित कर रखा है। केमार रोच सीरिज में तहलका मचाए हुए हैं।

30 जून 1998 को जन्मे केमार रोच की खासियत है क्विक आर्म एक्शन। इसके जरिये वे तूफानी गति पैदा करते हैं। केमार लंबे नहीं हैं और इसलिए क्विक आर्म एक्शन के सहारे वे गति को बढ़ाते हैं। क्विक आर्म एक्शन के जरिये पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज वसीम अकरम ने भी क्रिकेट जगत में दहशत फैलाई थी।

केमार भी अपने एक्शन के सहारे गेंदों में गति पैदा करते हैं। वे उन गिने-चुने तेज गेंदबाजों में शामिल हैं जो 150 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से गेंद फेंकने की क्षमता रखते हैं।

केमार रोच का नाम तब पहली बार सुर्खियों में आया था जब उन्होंने वाका में ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज रिकी पोंटिंग को परेशान कर दिया था। केमार की गेंद रिकी की एल्बो में लगी और उन्हें रिटायर हर्ट होना पड़ा था। इसके बाद रिकी का आत्मविश्वास हिल गया था।

2009 में केमार ने बंगलादेश के खिलाफ अपना टेस्ट डेब्यू किया था। वर्तमान टेस्ट के पहले तक वे 52 टेस्ट खेलकर 175 विकेट ले चुके हैं। 2012 में 146 रन देकर उन्होंने दस विकेट लिए थे। तब 2005 के बाद दस विकेट का कारनामा करने वाले वे वेस्टइंडीज के पहले खिलाड़ी बने थे।

एक और अनोखा कीर्तिमान केमार के नाम दर्ज है। 2011 के विश्व कप में उन्होंने नीदरलैंड के खिलाफ हैट्रिक भी ली थी। 80 वनडे में 114 विकेट उनके नाम दर्ज है।

केमार रोच मजबूत व्यक्तित्व के स्वामी हैं। एक बार ब्रिजटाउन रोड पर उनकी कार का भयानक एक्सीडेंट हो गया। उन्हें जबरदस्त चोट लगी, लेकिन फिर भी केमार ने वेस्ट इंडीज टीम में वापसी की।

आईपीएल में केमार रोच ने डेक्कन चार्जर्स की ओर से दो मैच खेले लेकिन उनका प्रदर्शन निराशाजनक रहा। आठ ओवर में उन्होंने 80 रन देकर कोई विकेट नहीं लिया। इसके बाद वे आईपीएल में नजर नहीं आए।