धोनी ने चेन्नई को दिलाई बल्ले से जीत तो स्टैंड में पत्नी साक्षी और बेटी जीवा हुई भावुक - क्रिकट्रैकर हिंदी

धोनी ने चेन्नई को दिलाई बल्ले से जीत तो स्टैंड में पत्नी साक्षी और बेटी जीवा हुई भावुक

महेंद्र सिंह धोनी ने इस मैच में 6 गेंदों में 18 रन बनाते हुए टीम को जीत दिलाकर वापस लौटे।

Sakshi Dhoni and Ziva Dhoni. (Photo Source: Disney+Hotstar)
Sakshi Dhoni and Ziva Dhoni. (Photo Source: Disney+Hotstar)

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) 2021 के सीजन का पहला क्वालिपायर मुकाबला दिल्ली कैपिटल्स और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच में दुबई के मैदान पर 10 अक्टूबर को खेला गया था। इस मैच में चेन्नई की टीम को 173 रनों का लक्ष्य मिला जिसमें एक समय टीम को 11 गेंदों में जीत हासिल करने के लिए 23 रनों की दरकार थी। इसके बाद अभी तक इस सीजन में बल्ले से कुछ भी खास योगदान नहीं देने वाले चेन्नई के कप्तान धोनी इस मैच में रवींद्र जडेजा से पहले बल्लेबाजी करने उतरे जो अब सीजन में बल्ले से काफी धमाल मचा रहे थे।

जिस समय धोनी मैदान पर आए तो क्रिकेट फैंस से लेकर विशेषज्ञ सभी ने इस फैसले पर हैरानी व्यक्त की लेकिन धोनी ने अपने इस फैसले को सही साबित किया। उन्होंने 6 गेंदों में 18 रनों की पारी खेलते हुए टीम को मैच में 2 गेंद शेष रहते हुए फाइनल में पहुंचा दिया। इसके बाद विंटेज धोनी को फिर से देखने पर स्टेडियम में मौजूद फैंस सहित सभी खुश दिखाई दे रहे थे।

धोनी को जीत दिलाते देख भावुक हुईं साक्षी

जहां स्टेडियम में मौजूद सभी फैंस धोनी को चियर कर रहे थे तो उसमें साक्षी और उनकी बेटी जीवा भी शामिल थी। दोनों ही चेन्नई की रोमांचक जीत पर काफी खुश नजर आई। जैसे ही धोनी ने टॉम कुर्रन की गेंद पर जीत का चौका लगाया उसके तुरंत बाद साक्षी ने स्टैंड में अपनी बेटी जीवा को गले लगाया जिसमें वह साफ तौर काफी भावुक दिखी। सोशल मीडिया पर जैसे ही वीडियो आया तुरंत ही काफी तेजी वारयल होते देखा जा रहा है।

वहीं मैच को लेकर बात की जाए तो इसमें कई तरह के उतार-चढ़ाव देखने को मिले। जहां दिल्ली कैपिटल्स की टीम ने इस मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवरों में 5 विकेट के नुकसान पर 172 रन बनाए थे। जिसमें पृथ्वी शॉ ने 60 रनों की तो वहीं ऋषभ पंत ने अर्धशतकीय पारी खेली थी, इसके अलावा शिमरोन हेटमायर ने भी 37 रनों की तेज तर्रार पारी खेली थी।

इसके बाद चेन्नई की टीम ने लक्ष्य का पीछा करते हुए अपना पहला विकेट फाफ डु प्लेसिस के रूप में जल्द ही गंवा दिया। लेकिन यहां से ऋतुराज गायकवाड़ ने रॉबिन उथप्पा के साथ मिलकर 110 रनों की साझेदारी करते हुए टीम को पूरी तरह से मैच में ला दिया था। लेकिन चेन्नई ने अचानक कुछ विकेट जल्दी गंवा दिए जिससे हार का खतरा दिखने लगा। ऐसे में धोनी ने मैदान पर आकर उसी पुराने अंदाज में मैच को खत्म करते हुए टीम को जीत दिलाकर वापस लौटे।