BCCI ने जारी किया घरेलू क्रिकेट सीजन का संशोधित कार्यक्रम - क्रिकट्रैकर हिंदी

BCCI ने जारी किया घरेलू क्रिकेट सीजन का संशोधित कार्यक्रम

अब 5 जनवरी से 20 मार्च 2022 तक खेला जाएगा रणजी ट्रॉफी।

Ranji Trophy final. (Photo Source: Twitter)
Ranji Trophy final. (Photo Source: Twitter)

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने घरेलू क्रिकेट के 2021-22 सीजन के कार्यक्रम में कुछ बदलाव करते हुए नई तारीखों का ऐलान कर दिया है। नए कार्यक्रम के अनुसार, सीजन की शुरुआत अब महिला अंडर-19 वनडे टूर्नामेंट और वीनू मांकड़ ट्रॉफी (पुरुष अंडर-19 वनडे टूर्नामेंट) के साथ होगी जो 20 सितम्बर से शुरू होंगे और 19 अक्टूबर को खत्म होंगे।

रणजी ट्रॉफी अब अगले साल 5 जनवरी से 20 मार्च 2022 तक आयोजित किया जाएगा जबकि सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी 27 अक्टूबर से 22 नवंबर 2021 तक खेला जाएगा। विजय हजारे ट्रॉफी भी 1 दिसंबर से शुरू होकर 29 दिसंबर तक खेला जाएगा। 

इससे पहले सभी राज्य क्रिकेट बोर्ड ने BCCI से अनुरोध किया था कि आगामी घरेलू सीजन की तैयारियों के लिए उन्हें कुछ अतिरिक्त समय दिया जाए जिसके बाद BCCI ने सभी घरेलू टूर्नामेंट के तारीखों में बदलाव कर दिया था।

BCCI सचिव जय शाह ने संशोधित कार्यक्रम के पीछे दिया ये कारण

BCCI के सचिव जय शाह ने कहा कि “बोर्ड बहुत करीब से भारत सरकार और राज्य प्राधिकरणों के साथ काम कर रहा है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि हमारे खेल में सहयोगी समाधान प्राप्त करें। आगामी घरेलू सत्र 2021-22 का मुख्य उद्देश्य ये है कि हम हर टूर्नामेंट की अखंडता को बनाए रखने में सक्षम हो सकें।”

उन्होंने कहा कि “घरेलू सत्र के संशोधित कार्यक्रम की समीक्षा स्टेकहोल्डर के साथ फिर से की गई है और हम नहीं चाहते हैं कि अब इसमें किसी तरह का बदलाव हो। BCCI अपने घरेलू सत्र की शुरुआत अंडर-19 टूर्नामेंट के साथ करेगा जो सितंबर में शुरू होगा।” 

इसके अलावा जय शाह ने नॉकआउट मुकाबले के क्वालिफिकेशन के बारे में भी जानकारी साझा की और बताया कि पांच एलीट ग्रुप के विजेता सीधे क्वार्टर फाइनल में पहुंचेंगे। हर एलीट ग्रुप में दूसरे स्थान पर रहने वाली टीमें और प्लेट ग्रुप की विजेता टीम तीन प्री-क्वार्टर फाइनल मुकाबले खेलेंगी जिसके तीनों विजेता क्वार्टर फाइनल के शेष स्थानों को पूरा करेंगे।”

इसके बाद जय शाह ने लिखा कि “महामारी का समय हम सभी के लिए बेहद कठिन और चुनौतीपूर्ण रहा है और इस दौरान हम सभी को कुछ कठोर निर्णय लेने पड़े। BCCI की ओर से मैं सभी राज्य संघों, मैच अधिकारियों, कोच और खिलाड़ियों का शुक्रिया अदा करता हूं कि उन्होंने हमें समझा।”

यहां देखिए घरेलू क्रिकेट का पूरा कार्यक्रम: