एशेज की तैयारी करने ऑस्ट्रेलिया पहुंचे बेन स्टोक्स, साथी खिलाड़ियों के साथ शुरू की ट्रेनिंग - क्रिकट्रैकर हिंदी

एशेज की तैयारी करने ऑस्ट्रेलिया पहुंचे बेन स्टोक्स, साथी खिलाड़ियों के साथ शुरू की ट्रेनिंग

पिछले छह महीनों से क्रिकेट के मैदान से दूर थे बेन स्टोक्स।

Ben Stokes. (Photo by Matt Roberts/Getty Images for Cricket Australia)
Ben Stokes. (Photo by Matt Roberts/Getty Images for Cricket Australia)

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से लगभग छह महीने दूर रहने के बाद बेन स्टोक्स आखिरकार अपनी टीम के साथ जुड़ चुके हैं। स्टोक्स इससे पहले एशेज 2021-22 के लिए इंग्लैंड की आधी टीम के साथ ऑस्ट्रेलिया पहुंचे थे। टीम में उनकी मौजूदगी से इंग्लैंड की टीम को थोड़ी सी राहत जरूर मिली है और उनके आने से इंग्लिश टीम को इस सीरीज को जीतने की बड़ा दावेदार माना जा रहा है।

IPL, वर्ल्ड कप जैसे बड़े टूर्नामेंट से बाहर थे बेन स्टोक्स

डरहम के ऑलराउंडर ने अपने मानसिक स्वास्थ्य के मुद्दों से निपटने के लिए क्रिकेट से ब्रेक लिया था। इस साल की शुरुआत में वह उंगली की चोट के कारण भी काफी परेशान रहे थे और इसी वजह से उन्हें IPL को बीच में ही छोड़कर देश वापस लौटना पड़ा था।

हालांकि स्टोक्स बाद में हंड्रेड के उद्घाटन संस्करण में नॉर्दर्न सुपरचार्जर्स के लिए दिखाई दिए थे। लेकिन इसके बाद उन्होंने भारत के खिलाफ पांच मैचों की टेस्ट सीरीज और IPL के दूसरे चरण और टी 20 वर्ल्ड कप से भी अपना नाम वापस ले लिया था। शुरुआत में उनका नाम एशेज टीम में नहीं था, लेकिन बाद में फिट घोषित होने के बाद उन्होंने टीम में वापस अपनी जगह बनाई।

स्टोक्स चार साल पहले ब्रिस्टल में अपने बार विवाद के कारण ऑस्ट्रेलिया में एशेज खेलने से चूक गए थे। ऑस्ट्रेलिया में उन्होंने अपना आखिरी टेस्ट मैच 2013-14 एशेज सीरीज के दौरान खेला था। फिलहाल स्टोक्स क्वींसलैंड में अपने  कप्तान जो रूट और उन खिलाड़ियों के साथ जुड़े हैं जो टी-20 वर्ल्ड कप टीम का हिस्सा नहीं हैं।

स्टोक्स ने गोल्ड कोस्ट के मेट्रिकॉन स्टेडियम में अपने साथियों के साथ ट्रेनिंग की। इंग्लैंड की टीम अब जोस बटलर, जॉनी बेयरस्टो, डेविड मालन, क्रिस वोक्स और मार्क वुड जैसे खिलाड़ियों के आने का इंतजार करेगी। इंग्लैंड का टी-20 वर्ल्ड कप का सफर 10 नवंबर को समाप्त हो गया। सेमीफाइनल मैच में न्यूजीलैंड ने मोर्गन एंड कंपनी को पांच विकेट से हराकर इस टी-20 वर्ल्ड कप के फाइनल में अपनी जगह पक्की की थी।