in

अंडर-19 विश्वकप के बाद अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में हिट रही इस पाकिस्तानी चाचा-भतीजे की जोड़ी

पूर्व कप्तान और पाकिस्तान क्रिकेट टीम की चयन समिति के अध्यक्ष इंज़माम उल हक़ और उनके भतीजे इमाम उल हक़ इस प्रतियोगिता के हिस्सा रहे हैं.

Imam-ul-Haq
Imam-ul-Haq of Pakistan. (Photo by Francois Nel/Getty Images)

13 जनवरी (शनिवार) से आईसीसी अंडर-19 विश्वकप २०१८ का आग़ाज होगा. न्यूजीलैंड में खेले जाने वाले इस प्रतियोगिता से भविष्य में राष्ट्रीय टीमों को कई युवा प्रतिभा मिलेगी. इस प्रतियोगिता में दमदार प्रदर्शन करने के बाद खिलाडियों को अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू करने का अवसर मिलता है.

अंडर-19 विश्वकप 1988 खेले इंज़माम उल हक़

पूर्व कप्तान और पाकिस्तान क्रिकेट टीम की चयन समिति के अध्यक्ष इंज़माम उल हक़ और उनके भतीजे इमाम उल हक़ इस प्रतियोगिता के हिस्सा रहे हैं. पाकिस्तान टीम की बल्लेबाज़ी की रीड कहे जाने वाले इंज़माम वर्ष 1988 में अंडर-19 विश्वकप के दौरान पाकिस्तान टीम की ओर खेले थे.

अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में 20 हज़ार के करीब रन बनाने वाले इंज़माम इस प्रतियोगिता में कुछ खास करने में नाकाम रहे थे, उन्होंने 9 मैचो में 37.16 की औसत से 223 रन बनाये थे, जिस दौरान वह एक अर्द्धशतक तक लगाने में भी सफ़ल नहीं हुए थे.

अंडर-19 विश्वकप 2012 और 2014 का हिस्सा रहे इमाम उल हक़

महानतम पूर्व पाकिस्तानी बल्लेबाज़ इंजमाम के भतीजे इमाम उल हक़ भी पाकिस्तान के लिए 2 बार यूथ विश्वकप खेल चुके हैं. इमाम वर्ष 2012 और 2014 के दौरान इस प्रतियोगिता का हिस्सा रहे. उन्होंने यूथ विश्वकप के 2 सीजन में कुल 12 मैचो में 40 से अधिक की औसत से 460 रन बनाए. इमाम ने यूथ विश्वकप में एक शतक और 2 अर्धशतकीय पारी भी खेली.

चाचा-भतीजे ने अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में किया कमाल

यूथ विश्वकप में साधारण प्रदर्शन करने के बाद चाचा इंजमाम और भतीजे इमाम ने शानदार प्रदर्शन किया. इंजमाम ने अपने अंतराष्ट्रीय में 120 टेस्ट, 378 वनडे और एकलौते टी-ट्वेंटी में क्रमश: 8830, 11739 और 11 रन बनाए.

वही भतीजे इमाम के अंतराष्ट्रीय करियर की बात करे तो, हाल में श्रीलंका के विरुद्ध वनडे क्रिकेट से अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में  डेब्यू करने वाले इमाम ने अपने पहले ही वनडे में शानदार 100 रनों की पारी खेलकर इतिहास रचा. इमाम ने अब तक 3 वनडे मैचो में 73.5 की औसत से 147 रन बनायें हैं.

~ लेखक गौतम

The Freedom series trophy

टेस्ट सीरीज से पहले दक्षिण अफ्रीका ने दिखाई गांधीगिरी

Virat Kohli

प्रीव्यू दक्षिण अफ्रीका बनाम भारत पहला टेस्ट : कप्तान बनने के बाद विराट कोहली के सामने सबसे बड़ी चुनौती