'वो एक फार्मेट में भी नहीं टिक सकते'- हार्दिक पांड्या की फिटेनस पर पूर्व पाकिस्तानी कप्तान का बयान - क्रिकट्रैकर हिंदी

‘वो एक फार्मेट में भी नहीं टिक सकते’- हार्दिक पांड्या की फिटेनस पर पूर्व पाकिस्तानी कप्तान का बयान

सलमान बट के मुताबिक इतने दुबले-पतले शरीर के साथ क्रिकेट के सभी फॉर्मेट में खेलना मुश्किल है।

Hardik Pandya. (Photo Source: Twitter)
Hardik Pandya. (Photo Source: Twitter)

पिछले कुछ समय से हार्दिक पांड्या फिटनेस की परेशानी से गुजर रहे हैं। इस वक्त वो NCA में अपनी फिटनेस पर काम कर रहे है जिससे कि वो पूरी तरह से फिट होकर एक बार फिर से टीम इंडिया के लिए फिर से खेल सकें। हार्दिक पांड्या अपनी पीठ की सर्जरी के बाद से लगातार खुद को साबित करने की पूरी कोशिश कर रहे हैं।

हालांकि हार्दिक पांड्या बल्लेबाजी में अपना योगदान देने में सक्षम हैं, लेकिन बतौर गेंदबाज वो पूरी तरह से फेल हो रहे हैं। हार्दिक पांड्या अपनी फिटनेस की वजह से पिछले टी-20 वर्ल्ड कप में अच्छा खेल नहीं दिखा पाए तो इसके बाद उन्हें न्यूजीलैंड के खिलाफ घरेलू सीरीज और फिर दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए भी टीम इंडिया से बाहर कर दिया गया।

हार्दिक की फिटनेस को लेकर सलमान बट ने दिया यह बड़ा बयान

बता दें कि टी-20 विश्व कप में हार्दिक सिर्फ न्यूजीलैंड और अफगानिस्तान के खिलाफ मैचों में सिर्फ 2-2 ओवर की गेंदबाजी कर पाए थे। जिनमें वह काफी महेंगे रहे और एक भी विकेट नहीं ले पाए। अब हार्दिक पांड्या की फिटनेस को लेकर पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सलमान बट ने प्रतिक्रिया दी है।

सलमान बट ने अपने आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर कहा कि, “हार्दिक पांड्या का शरीर इतना कमजोर है कि वो क्रिकेट के एक प्रारूप में भी सही से नहीं खेल सकते हैं। उन्हें उचित आहार और वेट ट्रेनिंग के जरिए अपने मसल्स को और बढ़ाने की जरूरत है। रवि शास्त्री ने हाल ही में कहा था कि पांड्या को वापस जाकर कड़ी मेहनत करनी चाहिए जिससे कि वो चार ओवर गेंदबाजी कर सकें। शास्त्री के बयान से यही मतलब निकलता है कि इस वक्त वो चार ओवर भी अभी ठीक से गेंदबाजी नहीं कर सकते हैं।”

इसके अलावा, मुंबई इंडियंस (MI) की टीम ने 2022 आईपीएल मेगा ऑक्शन से पहले हार्दिक पांड्या की रिटेन नहीं करने का फैसला किया। पांड्या ने आईपीएल में अब तक अपना सारा क्रिकेट केवल एक फ्रेंचाइजी मुंबई इंडियंस (MI) के लिए खेला है। 28 वर्षीय ने आईपीएल में 92 मैच खेले हैं, जहां उन्होंने 153.91 की शानदार स्ट्राइक-रेट से 1476 रन बनाए हैं। बल्लेबाजी के बाद उन्होंने गेंदबाजी में भी अहम योगदान दिया है।