एमएस धोनी के साथ खेलने के लिए महेश तीक्षणा ने घटाया 29 किलो वजन - क्रिकट्रैकर हिंदी

एमएस धोनी के साथ खेलने के लिए महेश तीक्षणा ने घटाया 29 किलो वजन

महेश तीक्षणा आईपीएल 2022 में चेन्नई सुपर किंग्स के लिए खेल रहे हैं।

Maheesh Theekshana. (Photo Source: Hiran Weerakkody and IPL/BCCI)
Maheesh Theekshana. (Photo Source: Hiran Weerakkody and IPL/BCCI)

जहां चेन्नई सुपर किंग्स आईपीएल 2022 में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर रही पा रही है, वहीं टीम के मिस्ट्री स्पिनर महेश तीक्षणा वास्तव में इस सीजन बेहतरीन लय में नजर आ रहे हैं। पहले कुछ मैचों में टीम से बाहर रहने के बाद, श्रीलंकाई अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी को प्लेइंग इलेवन में मौका मिला और उन्होंने इस मौके का पूरा फायदा उठाया। तीक्षणा ने सीएसके को बीच के ओवरों में महत्वपूर्ण विकेट लेने में मदद की है और स्कोरिंग रेट को नीचे रखने की उनकी क्षमता उन्हें और भी प्रभावी बनाती है। इस सीजन उन्होंने अब तक आठ में से 12 विकेट लिए हैं।

इस बीच, कुछ साल पहले तीक्षना के लिए सब कुछ इतना आसान नहीं था और इस प्रसिद्धि और सफलता को अर्जित करने के लिए उन्हें कड़ी मेहनत करनी पड़ी। 21 वर्षीय, जिसे 2022 की मेगा ऑक्शन में 70 लाख में खरीदा गया था, उन्होंने बताया कि कैसे उसने अपने लिए एक नाम बनाने और उच्चतम स्तर पर सफलता हासिल करने के लिए अपने फिटनेस पर काम किया। उन्होंने यह भी कहा कि सीएसके के लिए खेलना उनके लिए एक सपने के सच होने जैसा था।

कभी नहीं सोचा था कि CSK के लिए खेलूंगा- महेश तीक्षणा

सीएसके के ट्विटर हैंडल द्वारा अपलोड किये गए एक वीडियो में महेश तीक्षणा ने बताया कि, “मैं अपने अंडर-19 के दिनों में 117 किलोग्राम का था, इसलिए मुझे यो-यो टेस्ट पास करने के लिए अपना वजन कम करने के लिए अधिक मेहनत करनी पड़ी। 2020 में, मैंने सब कुछ छोड़ दिया और अपनी फिटनेस को (आवश्यक) स्तर पर लाया। मैंने अपने शरीर पर अधिक मेहनत करना शुरू कर दिया।”

उन्होंने आगे कहा कि, “2020 में, मैंने अजंता मेंडिस के साथ बातचीत की, और 2022 में, मैंने एमएस धोनी से बात की। मैं पिछले साल सीएसके के साथ नेट बॉलर के तौर पर था। कभी नहीं सोचा था कि वे इस साल मेरे लिए बोली लगाएंगे या मुझे चुनेंगे।” तीक्षणा ने यह भी बताया कि अंडर -19 दिनों के दौरान उन्हें अपने वजन के कारण अक्सर टीम से बाहर होना पड़ता था। हालांकि, इससे उन्होंने अपने आत्मविश्वास को कम नहीं होने दिया।

श्रीलंकाई स्पिनर ने अंत में कहा कि, “2017-18 में, मैं अंडर -19 टीम में था, लेकिन मुझे खेलने का मौका नहीं मिला क्योंकि मैं कई बार फिटनेस टेस्ट में फेल हो गया था। 2019 में, मुझे तीन दिवसीय मैचों में 10 मैचों के लिए वाटर बॉय बनाया गया। इसलिए मुझे पता था कि अगर मैं फेल हो गया तो मुझे फिर से पानी की बोतलें लेकर जाना पड़ेगा। लेकिन मैं खुद पर विश्वास करता रहा और कभी न हार मानने वाला रवैया रखता था। इसलिए मैं यहां 2022 में हूं।’