in , , , ,

आईपीएल के पहले मैच में चेन्नई सुपर किंग्स इन 11 खिलाड़ियों के साथ खेलने मुंबई इंडियंस के खिलाफ उतर सकती है

धोनी एक बार फिर से कप्तान के रूप में टीम के साथ उतरेंगे जिसका फैन्स काफी बेसब्री से इंतज़ार कर

CSK practice session. (Photo Source: Twitter)
CSK practice session. (Photo Source: Twitter)

इंडियन प्रीमियर लीग के 11 वें सीजन का जिसका इंतज़ार सभी क्रिकेट प्रेमियों को काफी बेसब्री से था वह 7 अप्रैल को आईपीएल के इतिहास की 2 सबसे मजबूत टीमों के बीच शुरू होने वाला है जिसमे वर्तमान चैम्पियन मुंबई इंडियंस और 2 साल बैन के बाद वापसी करने वाली चेन्नई सुपर किंग्स की टीम के बीच में वानखेड़े मैदान में रात 8 बजे खेला जायेगा और इस सीजन की शुरुआत इतने बड़े मैच से हो भी नहीं सकती थी.

धोनी एक बार फिर से कप्तान के रूप में टीम के साथ उतरेंगे जिसका फैन्स काफी बेसब्री से इंतज़ार कर रहे है. चेन्नई की टीम के लिए एक बार साथी खिलाड़ियों का एक साथ आने का मतलब टीम की मजबूती है जो पिछले 2 सीजन से किसी दूसरी टीम से खेल रहे थे. आईपीएल के इतिहास में चेन्नई ही एक ऐसी टीम रही है जो 8 सीजन में लगातार प्लेऑफ में पहुंची है.

यदि बात की जाएँ इस पहले मैच की तो चेन्नई सुपर किंग्स के सामने आईपीएल कि सबसे मजबूत टीम मुंबई इंडियंस होगी जिसने इस ट्राफी को सबसे अधिक 3 बार उठाया है और इसी कारण चेन्नई के सामने इस मैच में कौन से अंतिम 11 खिलाड़ी पूरी तरह से फिट बैठते है उस पर एक नजर हम डालते है.

यहाँ पर देखिये मुंबई इंडियंस के खिलाफ पहले मैच में चेन्नई सुपर किंग्स के कौन से खिलाड़ी अंतिम 11 में खेल सकते है.

ओपनिंग ( मुरली विजय, सैम बिलिंग्स)

किसी भी टीम के लिए ओपनिंग जोड़ी काफी महत्वपूर्ण होती है और चेन्नई के लिए भी ये स्थिति कुछ अलग नहीं है. इसमें किसी भी बात का कोई संदेह नहीं है कि मुरली विजय के टीम में मौजूद होने वह ओप्नोंग करने नहीं आएंगे. विजय का ओपनिंग में आना तय है क्योंकि विजय ने आईपीएल में पहले भी चेन्नई सुपर किंग्स के लिए ओपनिंग करते काफी शानदार पारियां खेली है.

इसके बाद विजय के साथ जोड़ीदार के रूप में इंग्लैंड टीम के ओपनिंग बल्लेबाज सैम बिलिंग्स आयेंगे क्योंकि इस पहले मैच में टीम फाफ को इसलिए नहीं खिला रही कि उन्होंने अभी टीम के साथ जुड़े है है साथ ही उनकी उंगली भी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चौथे टेस्ट मैच में चोटिल हो गयीं थी और टीम मैनेजमेंट इस बड़े टूर्नामेंट में फाफ को लेकर कोई भी खतरा नहीं उठाना चाहती है.

मध्यक्रम ( सुरेश रैना, शेन वाट्सन, महेंद्र सिंह धोनी (कप्तान, विकेटकीपर) केदार जाधव )

ओपनिंग जोड़ी के बात आती है मध्यक्रम की जो टीम के लिए नीव का काम करता है और यदि यह किसी भी टीम का कमजोर होता है तो उसके लिए किसी भी मैच को जीतना बेहद कठिन हो जायेगा लेकिन यदि हम चेन्नई सुपर किंग्स के मध्यक्रम को देखे तो साफ़ तौर पर पता चलता है कि टीम के पास एक से एक मैच विनर खिलाड़ी मिडिल ऑडर में मौजूद है जो अपने दम पर ही मैच को टीम कि झोली में डाल सकते है.

टीम के लिए तीसरे नंबर पर सुरेश रैना का बल्लेबाज़ी करना तय है क्योंकि वह अभी तक इसी नंबर पर खेलते रहे है और टीम को उन्होंने कई मैच में जीत भी दिलाई है और वह आईपीएल में सबसे अधिक रन बनाने वाले भी खिलाड़ी है और हर आईपीएल सीजन में काम से काम 400 रन बनाने वाले अकेले खिलाड़ी है. टी-20 क्रिकेट रैना की बल्लेबाज़ी को काफी पसंद आती है क्योंकि उनके बड़े शॉट खेलने में कोई भी तकलीफ नहीं होती और इसी वजह से उनका नंबर 3 पर बल्लेबाज़ी करना तय है.

चौथे नंबर पर बल्लेबाज़ी के लिए आईपीएल में पहली बार चेन्नई की टीम से जुड़ने वाले ऑस्ट्रेलिया टीम के पूर्व आलराउंडर खिलाड़ी शेन वाट्सन आयेंगे क्योंकि उन्हें इस फॉर्मेट का काफी अच्छा अनुभव भी है साथ ही वह इस पोजीशन में बल्लेबाज़ी के लिए सबसे उपयुक्त खिलाड़ी है क्योंकि यहाँ से वे अंत तक बल्लेबाज़ी कर के टीम को अच्छे स्कोर तक पहुंचा सकते है, इसके अलावा वाट्सन गेंदबाजी के जरिये भी जरुरी मौके पर टीम के लिए उपयुक्त साबित हो सकते है.

पांचवें नंबर पर बल्लेबाज़ी के लिए खुद कप्तान महेंद्र सिंह धोनी आयेंगे और उनके लिए ये पोजीशन एकदम सही है क्योंकि यहाँ से उन्हें लगभग अंतिम 5 ओवर खेलने का मौका मिलेगा और धोनी के आक्रामक रवैया टीम के का आएगा और धोनी को पारी खत्म करने का जो अनुभव हासिल है शायद इस वर्तमान समय में किसी भी खिलाड़ी को हासिल नहीं होगा. इसके बाद 6 वें नंबर पर केदार जाधव बल्लेबाज़ी करने के लिए आयेंगे जो बड़े शॉट खेलने के लिए जाने जाते है साथ ही वह अपनी स्पिन गेंदबाज़ी से भी टीम के उपयोग में आ सकते है.

आलराउंडर ( रवीन्द्र जड़ेजा, ड्वेन ब्रावो )

रवीन्द्र जड़ेजा जिन्होंने घरेलू क्रिकेट में इस बार अधिक गेंदबाज़ी नहीं की वह धोनी कि कप्तानी में एक बार फिर वापसी करने की कोशिश करेंगे. बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज को टीम ने रिटेन करके उप पर काफी भरोसा जताया है और अब जड़ेजा की बारी है अपनी टीम के लिए कुछ करने को. टीम के लिए बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों तरह से जड़ेजा उपयोगी साबित हो सकते है.

वहीँ यदि टीम के दूसरे आलराउंडर खिलाड़ी की बात की जायें तो वेस्टइंडीज के आलराउंडर खिलाड़ी ड्वेन ब्रावो जो विश्व के इस समय सबसे अच्छे आलराउंडर खिलाड़ी में से एक है और इस टीम के लिए बल्लेबाज और गेंदबाज़ के रूप में एक अलग ही मजबूती देते है. इस बार आईपीएल की तैयारी के ब्रावो ने पीएसएल का ये सीजन भी नहीं खेला था ताकि वह आईपीएल के पुरे सीजन में फिट रहकर खेल सके.

गेंदबाज ( हरभजन सिंह, मार्क वुड, शार्दुल ठाकुर )

महेंद्र सिंह धोनी अनुभवी गेंदबाजों को टीम में रखना चाहते है और इसी वजह से वह ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह को इस मैच में जरुर खिलाएंगे. हरभजन को वानखेड़े मैदान से काफी अच्छी तरह से वाकिफ है क्योकिं वह पिछले 10 सीजन से मुंबई इंडियंस टीम का हिस्सा रहे है और टीम के लिए उनका अनुभव काफी काम आने वाला है. इसके अलावा टीम में यदि तेज़ गेदबाजों की बात करें तो इंग्लैंड टीम के मार्क वुड को इस मैच में खेलने का मौका मिलेगा साथ ही शार्दुल ठाकुर दूसरे तेज़ गेंदबाज़ की भूमिका को निभाएंगे.

यहाँ पर देखिये चेन्नई सुपर किंग्स टीम की संभावित अंतिम 11 मुंबई इंडियंस के खिलाफ

 

IPL strategic time-out

इस बार आईपीएल में अंपायर इस निर्णय को लेने के लिए दिखायेंगे ये नया सिग्नल

Kagiso Rabada

आईपीएल 2018: ये 5 खिलाड़ी, जो कागीसो रबाडा की जगह ले सकते हैं