साउथ अफ्रीका ने जहां एक तरफ टेस्ट सीरीज को अपने नाम किया वहीं डीन एल्गर ने भी DRS विवाद को लेकर तोड़ी चुप्पी - क्रिकट्रैकर हिंदी

साउथ अफ्रीका ने जहां एक तरफ टेस्ट सीरीज को अपने नाम किया वहीं डीन एल्गर ने भी DRS विवाद को लेकर तोड़ी चुप्पी

डीन एल्गर को लगता है कि DRS घटना से लक्ष्य का पीछा करना उनके लिए काफी आसान हो गया था।

Dean Elgar and Keegan Petersen. (Photo by PHILL MAGAKOE/AFP via Getty Images)
Dean Elgar and Keegan Petersen. (Photo by PHILL MAGAKOE/AFP via Getty Images)

साउथ अफ्रीका ने केपटाउन में तीसरे और निर्णायक टेस्ट मैच में भारत को सात विकेट से हरा कर तीन मैचों की टेस्ट सीरीज 2-1 से अपने नाम कर ली है। भारत पर शानदार जीत के बाद दक्षिण अफ्रीकी कप्तान डीन एल्गर ने कहा कि उन्हें लगता है कि DRS की घटना पर भारत की प्रतिक्रिया से उनकी टीम को फायदा हुआ।

दरअसल दक्षिण अफ्रीका की दूसरी पारी के 21वें ओवर में रविचंद्रन अश्विन की गेंद पर एल्गर को ऑन-फील्ड अंपायर मरे इरास्मस ने LBW आउट करार दिया था। लेकिन अफ्रीकी कप्तान ने इस फैसले को चैलेंज किया।

रिप्ले में दिखा कि गेंद एकदम स्टम्प के ऊपर से निकल रही थी और इसी वजह से ऑन फील्ड अंपायर को अपना फैसला पलटना पड़ा। जिसने भारतीय खेमे को मायूश कर दिया और यहाँ तक की विराट कोहली ने अपनी निराशा को छुपाने की जगह पर पूरी तरह से मैदान पर ही जाहिर कर दिया। जिसमें उन्होंने स्टम्प माइक के जरिए ब्रॉडकास्टर को काफी खरी-खोटी सुनाने का काम किया।

डीन एल्गर ने कहा DRS के बाद भारतीय टीम खेल के बारे में भूल गए

केपटाउन में मैच के बाद, एल्गर ने कहा कि वह “बेहद खुश” हैं कि जिस तरह से DRS कॉल पर भारतीय क्रिकेटरों द्वारा दिखाई गई निराशा के बाद चीजें दक्षिण अफ्रीका के पक्ष में आई और उनकी टीम इसका भरपूर फायदा उठाने में कामयाब रही।

एल्गर ने कहा चीजों के उनके खिलाफ जाने से टीम इंडिया बहुत दबाव में थी और अंततः इससे उनका पतन भी हुआ। उन्होंने आगे कहा कि भारतीय टीम की इस तरह की प्रतिक्रिया ने साउथ अफ्रीकी बल्लेबाजों को बहुत सारी चीजें मुफ्त में दे दी, खासकर गेंदबाजों द्वारा, और वह इस DRS घटना से काफी खुश थे क्योंकि इससे उन्हें सीरीज जीतने में काफी मदद मिली।

सीरीज जीत से खुश अफ्रीकी कप्तान डीन एल्गर ने कहा कि, शायद भारतीय टीम थोड़े दबाव में थी और चीजें उनके तरीके से नहीं चल रही थीं, जो कि पिछले काफी समय से उनके हक में थी। यह टेस्ट मैच क्रिकेट का थोड़ा दबाव था जिसने हमें फ्री स्कोर करने और लक्ष्य के करीब जाने के लिए थोड़ा समय दिया।