भारतीय टीम के मुख्य कोच का पदभार संभालने के साथ राहुल द्रविड़ सबसे पहले सुलझायेंगे यह समस्या - क्रिकट्रैकर हिंदी

भारतीय टीम के मुख्य कोच का पदभार संभालने के साथ राहुल द्रविड़ सबसे पहले सुलझायेंगे यह समस्या

न्यूजीलैंड के खिलाफ शुरू होने वाली घरेलू टी-20 सीरीज से राहुल द्रविड़ दिखेंगे भारतीय टीम के मुख्य कोच के किरदार में।

India A coach Rahul Dravid (Photo by Mike Egerton/PA Images via Getty Images)
India A coach Rahul Dravid (Photo by Mike Egerton/PA Images via Getty Images)

न्यूजीलैंड के खिलाफ 17 नवंबर से शुरू होने वाली 3 मैचों की टी-20 सीरीज के साथ भारतीय क्रिकेट में एक नए अध्याय की शुरुआत भी हो जाएगी। जिसमें टीम के कोचिंग स्टाफ में काफी बड़ा बदलाव देखने को मिलेगा। जहां अब रवि शास्त्री की जगह पर भारतीय टीम के मुख्य कोच के तौर पर राहुल द्रविड़ इस भूमिका में दिखने वाले हैं।

मुख्य कोच की भूमिका को संभालने के साथ राहुल द्रविड़ को कई चीजों पर सबसे पहले काम करना पड़ेगा, जिसमें कोरोना महामारी के बाद से बायो-बबल में लंबे समय तक रहना भी एक बड़ी समस्या है। ऐसे नियम लागू होने के बाद से खिलाड़ियों के लिए खुद को मानसिक और शारीरिक तौर पर पूरी तरह से फिट रखना काफी मुश्किल हो गया है।

हालांकि अब राहुल द्रविड़ इस एक मामले पर सबसे पहले अपना काम करना चाहते हैं। जिसमें इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के अनुसार इस विषय को राहुल द्रविड़ ने क्रिकेट सलाहकार कमेटी (CVC) के सामने उठाया था। जिस समय राहुल द्रविड़ मुख्य कोच इंटरव्यू के लिए कमेटी के सामने उपस्थित हुए थे।

बीसीसीआई और राहुल द्रविड़ को खिलाड़ियों की यह समस्या काफी अच्छे से पता है

अभी तक जहां किसी सीरीज के किस खिलाड़ी को आराम देना है और किस खिलाड़ी को टीम में चयन करना है इसका फैसला चयनकर्ताओं के हाथ में होता था। हालांकि अब राहुल द्रविड़ के मुख्य कोच की भूमिका में आने के बाद वह आराम दिए जाने वाले खिलाड़ियों को लेकर फैसला कर सकते हैं। जिसके बाद वह चयनकर्ताओं को ऐसे 15 खिलाड़ियों के नाम सौपेंगे जिनको उस सीरीज के लिए टीम में चयन किया जाना चाहिए।

बीसीसीआई के एक सूत्र ने इंडियन एक्सप्रेस को दिए अपने बयान में कहा कि, अब इस तरह के हालात से बचने के लिए बीसीसीआई एक बड़ा फैसला कर सकता है। बीसीसीआई तय करेगा कि किस खिलाड़ी को आराम देना है और यह इस पर निर्भर करेगा कि कितनी ज्यादा क्रिकेट खेली जा रही है। वहीं राहुल द्रविड़ से बातचीत के बाद बोर्ड भी इस विषय को लेकर बहुत ही गंभीर हुआ है।