देश में बढ़ते ओमिक्रॉन के खतरे को देखते हुए BCCI ने इस बड़े घरेलू टूर्नामेंट को स्थगित करने का लिया फैसला - क्रिकट्रैकर हिंदी

देश में बढ़ते ओमिक्रॉन के खतरे को देखते हुए BCCI ने इस बड़े घरेलू टूर्नामेंट को स्थगित करने का लिया फैसला

लगातार दूसरे साथ इस प्रमुख टूर्नामेंट को कोरोना महामारी के खतरे को देखते हुए रद्द कर दिया गया है।

Board of Control for Cricket in India. (Photo by Aniruddha Chowhdury/Mint via Getty Images)
Board of Control for Cricket in India. (Photo by Aniruddha Chowhdury/Mint via Getty Images)

पिछले 1 हफ्ते में देश में कोरोना महामारी के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन की वजह से कई राज्यों में इसके संक्रमण के मामलों में एकबार फिर से तेजी देखने को मिली है। इस स्थिति को भांपते हुए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने प्रमुख घरेलू टूर्नामेंट विजय मर्चेंट ट्रॉफी को स्थगित करने का फैसला किया है। जिमसें इस नए वैरिएंटर को बड़ा खतरा बताया गया है।

यह लगातार दूसरा साल है जब कोरोना महामारी की वजह से विजय मर्चेंट ट्रॉफी को रद्द करने का फैसला किया गया है। ऐसा ही कुछ पिछले साल देखने को मिला था, जब देश दूसरी लहर की वजह से जूझ रहा था। BCCI के सेक्रेट्री जय शाह ने पहले ही अपने एक बयान के जरिए इस बात का संकेत दे दिया है, जिसको लेकर 30 दिसंबर की शाम को अब पुष्टि भी कर दी गई है।

भारत में पहले ही कोरोना की 2 लहरों की वजह से काफी नुकसान देखने को मिला है, जिसके चलते BCCI भी इस बार पहले से ही सतर्कता दिखाते हुए ओमिक्रॉन की वजह से बढ़ते मामलों को लेकर अभी से बड़े फैसले लेते हुए दिख रही है। 29 दिसंबर को पूरे देश में 13.154 नए कोरोना के मामले भी दर्ज किए गए थे। जो पिछले सात हफ्तों में एक दिन में दर्ज किए गए सबसे ज्यादा दैनिक मामले थे।

पिछले एक हफ्ते से रोजाना आ रहे हैं 8,000 नए मामले

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने मीडिया से 30 दिसंबर को बातचीत के दौरान जानकारी दी कि देश में पिछले 1 हफ्ते से लगातार दैनिक कोरोना मामले 8,000 से अधिक दर्ज किए जा रहे हैं। जिसमें मामलों की सकारात्मक दर 0.92 फीसद पर है। वहीं 26 दिसंबर से दैनिक मामले 10,000 से अधिक दर्ज किए जा रहे हैं।

आधिकारिक डेटा के अनुसार भारत में मौजूदा समय में एक्टिव मामलों की संख्या 91,361 हैं। वहीं अब तक देश में कोरोना संक्रमण की वजह से 481,080 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं इस समय देश की राजधानी दिल्ली के साथ महाराष्ट्र में नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के मामलों में सर्वाधिक वृद्धि दर्ज की गई है, जिससे यहां पर मामलों में तेजी देखने को मिली है।