नासिर हुसैन ने कप्तान विराट कोहली की तारीफ में गढ़े कसीदे - क्रिकट्रैकर हिंदी

नासिर हुसैन ने कप्तान विराट कोहली की तारीफ में गढ़े कसीदे

हुसैन ने कहा कि विराट कोहली ने जो कुछ भी छुआ, वो सोने में बदल गया।

NASSER HUSSAIN
MANCHESTER, ENGLAND – SEPTEMBER 19: Sky TV pundit Nasser Hussain looks on before the 1st Royal London One Day International match between England and West Indies at Old Trafford on September 19, 2017 in Manchester, England. (Photo by Stu Forster/Getty Images)

इंग्लैंड और भारत के बीच ओवल के मैदान पर खेले गए चौथे टेस्ट में भारतीय टीम ने शानदार प्रदर्शन करते हुए मैच को अपने नाम किया। ओवल टेस्ट में भारत ने इंग्लैंड को 157 रनों से हराकर 50 साल बाद इस मैदान पर जीत दर्ज की और सीरीज में 2-1 से बढ़त बनाई। चौथे टेस्ट मैच में भारत के शानदार प्रदर्शन को देखते हुए इंग्लैंड को पूर्व कप्तान नासिर हुसैन ने टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली की जमकर तारीफ की है। 

नासिर हुसैन का मानना है कि ओवल टेस्ट मैच के पांचवें दिन विराट कोहली की कप्तानी की असली परीक्षा थी और वो इसमें सफल रहे। हुसैन ने कहा कि ओवल की पिच पर तेज गेंदबाजों के लिए कुछ खास मदद नहीं थी और रवींद्र जडेजा के लिए भी थोड़ा ही रफ़ बना था। इसके बावजूद भारतीय गेंदबाज 10 विकेट लेने में सफल रहे। साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि विराट कोहली ने जब-जब गेंदबाजी में बदलाव किया, वो हमेशा भारत के पक्ष में रहा।

 पांचवें दिन के खेल में हर कुछ विराट कोहली के पक्ष में रहा

नासिर हुसैन ने द डेली मेल में लिखे अपने कॉलम के जरिए कहा कि, “चौथा टेस्ट मैच विराट कोहली के लिए बेहद शानदार था क्योंकि उन्होंने जो कुछ भी छुआ, वो सोने में बदल गया। हर गेंदबाजी में तब्दीली ने काम किया। जब कोहली ने चायकाल के बाद दूसरी नई गेंद ली तो उमेश यादव ने तुरंत क्रेग ओवर्टन का विकेट लेकर भारत को सफलता दिलाई। यह कोहली का मिदास टच था और अब भारत एक ऐतिहासिक सीरीज जीतने से एक मैच दूर खड़ा है।”

अश्विन के चयन नहीं होने पर हुसैन ने क्या कहा?

कॉलम में नासिर हुसैन ने लिखा कि, “भारत को शायद ही चौथे टेस्ट में ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन की कमी खली होगी। टेस्ट क्रिकेट में अश्विन के चयन नहीं होने से अब कोई फर्क नहीं पड़ता है। ओवल टेस्ट के लिए भारतीय टीम में रविचंद्रन अश्विन का चयन ना होना अप्रासंगिक हो गया। कोहली ने अपने तेज गेंदबाजों का समर्थन किया और वही तेज गेंदबाजों ने उनको विश्वास को सही साबित किया।”