कौन हैं यश धुल, जिन्हे अंडर-19 वर्ल्ड कप के लिए भारत का कप्तान नियुक्त किया गया है - क्रिकट्रैकर हिंदी

कौन हैं यश धुल, जिन्हे अंडर-19 वर्ल्ड कप के लिए भारत का कप्तान नियुक्त किया गया है

यश धुल के पास दिल्ली की अंडर-16, अंडर-19 और भारत की अंडर-19 टीम की कप्तानी करने का अनुभव है।

Yash Dhull. (Photo Source: Twitter)
Yash Dhull. (Photo Source: Twitter)

अखिल भारतीय जूनियर चयन समिति ने हाल ही में 2021 ACC अंडर-19 एशिया कप के लिए 20 सदस्यीय टीम का चयन किया था। टीम की घोषणा करते हुए, दिल्ली के यश धुल को टीम का कप्तान बनाया गया और वह 23 दिसंबर से 01 जनवरी के बीच होने वाले टूर्नामेंट के दौरान टीम का नेतृत्व करेंगे।

इसी क्रम में आगे बढ़ते हुए, उसी समिति ने 19 दिसंबर को अंडर-19 पुरुष क्रिकेट वर्ल्ड कप के लिए 17 सदस्यीय भारतीय टीम की घोषणा की, जहां धुल को फिर से टीम का कप्तान बनाया गया। युवा क्रिकेटर की बात करें तो वह सितंबर-अक्टूबर में आयोजित 2021-22 सीजन में वीनू मांकड़ ट्रॉफी में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ियों में से एक थे।

उन्होंने DDCA के लिए खेले गए पांच मैचों में 75.50 की शानदार औसत से 302 रन बनाए। नई दिल्ली के जनकपुरी के रहने वाले यश को दिल्ली की अंडर-16, अंडर-19 और भारत की अंडर-19 टीम का नेतृत्व करने का अनुभव है। दाएं हाथ के मध्य क्रम के बल्लेबाज ने 11 साल की उम्र में बाल भवन स्कूल की अकादमी में प्रवेश किया और यहीं से अपने खेल को विकसित किया।

यश धुल को इस मुकाम तक पहुंचने के लिए करना पड़ा काफी संघर्ष

यश के पिता एक कॉस्मेटिक ब्रांड के साथ एक कार्यकारी के रूप में काम करते थे, लेकिन अपने बच्चे के करियर को आगे बढ़ाने के लिए उन्हें अपनी नौकरी छोड़नी पड़ी। हाल ही में एक साक्षात्कार में उनसे क्रिकेट के क्षेत्र में उनके रोल मॉडल के बारे में पूछा गया, लेकिन उन्होंने इसका जवाब बिना किसी का नाम लेते हुए शानदार तरीके से दिया। उन्होंने जवाब में कहा कि, “कोई भी जो अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेलता है, उससे सीखने के लिए काफी अच्छा है। मैं हर किसी के खेल का बारीकी से पालन करता हूं। मैं किसी की नकल नहीं करता, लेकिन हर कोई मेरा हीरो है।

यश के पिता ने टाइम्स नाउ से बात करते हुए कहा कि, “मुझे यह सुनिश्चित करना था कि उसे कम उम्र से ही खेलने के लिए सबसे अच्छी किट और गियर मिले। मैंने उसे बेहतरीन इंग्लिश विलो बैट दिए। उनके पास सिर्फ एक बल्ला नहीं था, मैं उन्हें अपग्रेड करता रहा। हमने अपने खर्चों में कटौती की थी।”