मोहम्मद रिजवान ने टी-20 क्रिकेट में अपनी भूमिका को 'मुश्किल और शर्मनाक' बताया - क्रिकट्रैकर हिंदी

मोहम्मद रिजवान ने टी-20 क्रिकेट में अपनी भूमिका को ‘मुश्किल और शर्मनाक’ बताया

मोहम्मद रिजवान इस समय बांग्लादेश प्रीमियर लीग 2023 में कोमिला विक्टोरियंस के लिए खेल रहे हैं।

Mohammad Rizwan (Image Source: PCB)
Mohammad Rizwan (Image Source: PCB)

पाकिस्तान के स्टार विकेटकीपर-बल्लेबाज मोहम्मद रिजवान ने कहा कि टी-20 क्रिकेट में एंकर की भूमिका निभाना बिल्कुल भी आसान नहीं है। रिजवान ने यह भी कहा कि कई बार उन्हें खेल के सबसे छोटे प्रारूप में एंकर की भूमिका निभाना ‘शर्मनाक’ लगता है, क्योंकि पाकिस्तान के बल्लेबाज पावर-शॉट खेलने के लिए जाने जाते हैं।

आपको बता दें, मोहम्मद रिजवान इस समय बांग्लादेश प्रीमियर लीग 2023 में कोमिला विक्टोरियंस के लिए खेल रहे हैं। दाएं-हाथ के बल्लेबाज BPL 2023 के बाद 13 फरवरी से शुरू हो रहे पाकिस्तान सुपर लीग (पीएसएल) 2023 में मुल्तान सुल्तान की कप्तानी करेंगे।

मेरे क्रिकेट आइडल एबी डिविलियर्स हैं: मोहम्मद रिजवान

रिजवान ने न केवल फ्रेंचाइजी क्रिकेट, बल्कि बाबर आजम के साथ पिछले तीन वर्षों में पाकिस्तान क्रिकेट टीम के लिए कई मैच-जिताऊ साझेदारियां की हैं। हालांकि, पाकिस्तान के स्टार विकेटकीपर-बल्लेबाज को कई बार टी-20 क्रिकेट में एंकर की भूमिका निभाने में शर्मिंदगी होती है। उन्होंने आगे यह भी खुलासा किया कि कभी-कभी फ्रेंचाइजियां उन्हें अपना विकेट बनाए रखने का आग्रह करती हैं ताकि अन्य बल्लेबाज खुलकर रन बना सकें।

क्रिकबज के अनुसार, मोहम्मद रिजवान ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा, ‘यह बहुत कठिन भूमिका है, और कभी-कभी आपको खेल के सबसे छोटे प्रारूप में एंकर की भूमिका बहुत शर्मनाक लगती है। फ्रेंचाइजियां मुझसे एंकर की भूमिका निभाने की मांग करती हैं, जैसे मैं पाकिस्तान के लिए करता हूं। मैं हमेशा स्थिति और प्रतिद्वंद्वी का आकलन करता हूं, और फिर पारी को गहराई में लेकर जाता हूं।

लेकिन कभी-कभी यह शर्मनाक होता है, क्योंकि टी-20 क्रिकेट में हर कोई छक्के पसंद करता हैं और वे चाहते हैं कि मैं 35-45 गेंदों पर 60-70 रन बनाऊं। लेकिन मेरे लिए मैच जीतना ज्यादा अहम होता है। आप स्कोरबोर्ड की ओर देखकर अंदाजा लगा सकते हैं कि आपसे टीम की क्या मांग है। मेरे क्रिकेट आइडल एबी डिविलियर्स हैं, और मैं उन्हें और खेल के सभी प्रारूपों में उनके प्रदर्शन को बहुत करीब से देखता हूं और इसलिए मैं भी टीम की मांग के अनुसार ही खेलने की कोशिश करता हूं।’