गौतम गंभीर को लेकर मनोज तिवारी का बड़ा खुलासा

IPL 2024: “अगर गंभीर से नहीं लड़ाई नहीं करता तो मेरा बैंक बैलेंस बढ़ जाता’- मनोज तिवारी का चौंकाने वाला खुलासा

मनोज तिवारी 2010 से 2013 के बीच कोलकाता नाइट राइडर्स के अहम खिलाड़ी थे।

Gautam Gambhir Manoj Tiwary
Gautam Gambhir Manoj Tiwary. (Photo Source: Twitter)

भारत के पूर्व क्रिकेटर मनोज तिवारी ने 2024 रणजी ट्रॉफी में बंगाल का नेतृत्व करने के बाद खेल के सभी प्रारूपों से संन्यास की घोषणा की। दो बार के पूर्व चैंपियन और पिछले सीजन के फाइनलिस्ट इस रणजी सीजन में लीग चरण से आगे नहीं बढ़ सके।

अभियान के दौरान 10,000 फर्स्ट क्लास रन पूरे करने वाले तिवारी संन्यास लेने के बाद लगातार एक से बढ़कर एक बड़े खुलासे कर रहे हैं। भारत के लिए 12 वनडे और तीन टी20 मैच खेलने वाले दाएं हाथ के बल्लेबाज ने हाल ही में कहा कि वह एमएस धोनी से पूछना चाहते हैं कि उन्होंने उन्हें भारतीय टीम से बाहर क्यों किया।

गौतम गंभीर से झगड़ा करने का बहुत नुकसान हुआ मुझे- मनोज तिवारी

अब, 38 वर्षीय, जो 2012 में अपना पहला इंडियन प्रीमियर लीग खिताब जीतने वाली कोलकाता नाइट राइडर्स टीम का हिस्सा थे, उन्होंने कहा कि उस समय उनका तत्कालीन कप्तान गौतम गंभीर के साथ झगड़ा हुआ था, जिसके कारण उन्हें टीम से बाहर कर दिया गया था। इस कारण वो अधिक समय तक इस फ्रेंचाईजी के लिए नहीं खेल सके।

आनंद बाजार पत्रिका के हवाले से मनोज तिवारी ने कहा कि, “2012 में केकेआर चैंपियन बनी थी। उस वक्त मैं विजयी चौका लगाने में कामयाब रहा था। मुझे केकेआर के लिए एक और साल खेलने का मौका मिला। अगर 2013 में मैं गंभीर से नहीं लड़ा होता तो शायद मैं दो-तीन साल और खेलता। इसका मतलब है कि अनुबंध के अनुसार मुझे जो राशि मिलनी थी वह बढ़ गई होगी। बैंक बैलेंस मजबूत होता, लेकिन मैंने इसके बारे में कभी नहीं सोचा।”

मनोज तिवारी 2008 और 2009 में दिल्ली डेयरडेविल्स (अब दिल्ली कैपिटल्स) फ्रेंचाइजी का हिस्सा थे। उन्होंने यह भी खुलासा किया कि जिस तरह से फ्रेंचाइजी (दिल्ली डेयरडेविल्स) ने प्लेइंग इलेवन चुनने के मामले में काम किया, उससे वह निराश थे। उनका मानना था कि बेहतर खिलाड़ियों को लगातार नजरअंदाज किया गया जबकि कुछ खिलाड़ी घायल हो गए। अवसरों की कमी से निराश होकर तिवारी ने प्रबंधन से उन्हें रिलीज करने के लिए कहा। इसका उल्टा असर हुआ और उन्हें अपना अनुबंध खोना पड़ा।

close whatsapp