ऑस्ट्रेलिया टेस्ट सीरीज़ में सबसे बड़ी खोज रहा ये भारतीय खिलाड़ी, पृथ्वी शॉ की बढ़ा दी मुश्किलें - क्रिकट्रैकर हिंदी

ऑस्ट्रेलिया टेस्ट सीरीज़ में सबसे बड़ी खोज रहा ये भारतीय खिलाड़ी, पृथ्वी शॉ की बढ़ा दी मुश्किलें

Mayank Agarwal ( Image source: BCCI Twitter Handle)
Mayank Agarwal ( Image source: BCCI Twitter Handle)

टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज़ खेल रही है। कल सोमवार को टेस्ट सीरीज़ का आखिरी दिन होगा। जिसमें तय हो जाएगा कि मैच का किया परिणाम रहेगा। हालांकि अभी टीम इंडिया सिडनी टेस्ट में ड्राइविंग सीट पर नज़र आ रही है।

कप्तान कोहली ने ऑस्ट्रेलिया टीम को फॉलोऑन खेलने के लिए मैदान पर बुलाया है। चौथे दिन का खेल खत्म होने तक ऑस्ट्रेलिया ने बिना विकेट खोए 6 रन बना लिए हैं।

अब अगर बात पूरी टेस्ट सीरीज़ की करें तो टीम इंडिया का एक खिलाड़ी इस पूरी सीरीज़ में टीम इंडिया की सबसे बड़ी खोज रहा है।

मयंक अग्रवाल ने मेलबर्न में दिखाया दम

मयंक अग्रवाल को सलामी बल्लेबाज़ के तौर पर मेलबर्न टेस्ट में जगह दी गई थी। उन्होंने टीम के फैसले को सही साबित किया और अपने डेब्यू मैच में ही 76 रनों की पारी खेल डाली।

मयंक अग्रवाल के लिए ये पारी इसलिए भी अहम थी क्योंकि टीम इंडिया मैच में अपनी खराब सलामी जोड़ी के प्रदर्शन को लेकर जूझ रही थी।

मयंक अग्रवाल ने पहले ही मैच में 161 गेंदों में 76 रन ठोके। इस दौरान उन्होंने 8 चौके और 1 छक्का लगाया। दूसरी पारी में मयंक अग्रवाल ने 42 रनों की बेहतरीन पारी खेली।

सिडनी में कर दिया कमाल

मयंक अग्रवाल के बेहतरीन प्रदर्शन के बाद उन्हें दोबारा सिडनी टेस्ट में टीम में चुन लिया गया। मयंक ने टीम और कप्तान के फैसले को सही साबित किया और 112 गेंदों में 77 रन ठोक कर एक मजबूत स्कोर की बुनियाद रख दी।

ऐसे में टीम इंडिया सिडनी में एतिहासिक जीत की ओर बढ़ रही है।

पृथ्वी शॉ की बढ़ी मुश्किलें

पृथ्वी शॉ के चोटिल होने का फायदा एक तरह से देखा जाए मयंक अग्रवाल को मिला। पृथ्वी शॉ को उनके बेहतरीन प्रदर्शन के आधार पर ऑस्ट्रेलिया सीरीज़ में शामिल किया गया था। लेकिन पृथ्वी सीरीज़ शुरु होने से ही प्रैक्टिस मैच में चोटिल हो गए।

जिसके बाद वह सीरीज़ से बाहर हो गए। अब मयंक अग्रवाल ने बतौर ओपनर दमदार प्रदर्शन करके अपनी दावेदारी भी पेश कर दी है।

ऐसे में पृथ्वी के लिए दोबारा वापसी करते हुए अपनी जगह को संभाले रखना सबसे बड़ी चुनौती होगा। क्योंकि टीम इंडिया में बल्लेबाज़ों की लंबी कतार लगी हुई है।